कुर्सी बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं नीतीश : उपेंद्र कुशवाहा
नीतीश की कुर्सी बचाने की नीति के कारण ही आज राज्य में विकास ठप है.


पटना: बिहार में सत्तारूढ़ महागठंबधन के दो घटकों में चल रही तनातनी के बीच राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष और केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को कहा कि नीतीश कुमार जिस नाव पर बैठेंगे, उसका डूबना तय है.

पटना में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपनी कुर्सी बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. नीतीश की कुर्सी बचाने की नीति के कारण ही आज राज्य में विकास ठप है, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति बदहाल हो गई है.

जेडीयू के एनडीए में शामिल होने के कयास पर कुशवाहा ने कटाक्ष करते हुए कहा, 'नीतीश जिस नाव पर सवार होंगे, उसे ही डुबो देंगे. यही उनका राजनीतिक इतिहास रहा है.'

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की घटक रालोसपा के नेता ने बिहार में शिक्षा और स्वास्थ्य के मसले पर आंदोलन करने की घोषणा करते हुए कहा, हमारी पार्टी 'आक्रोश दिखाओ, शिक्षा बचाओ' आंदोलन करने जा रही है. इसके तहत 9 अगस्त को बिहार में चक्का जाम किया जाएगा और 15 अक्टूबर को गांधी मैदान में महापंचायत का आयोजन होगा.

उन्होंने नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि जब वह अपने 12 वर्ष के कार्यकाल में बिहार में विकास नहीं कर पाए, तो अब उनसे उम्मीद करना बेमानी है. जनता अब उन्हें सबक सिखाने का मन बना चुकी है.


अधिक देश की खबरें