सपा की राष्ट्रीय कार्यकरणी में दिखा 'गैरों पे करम, अपनो पर सितम, का काकटेल
खुद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश की मौजूदगी के दौरान मीडिया से कहा था कि परिवार में कोई मतभेद नही है सब एक है


लखनऊ : समाजवादी पार्टी की बहु प्रतीक्षित राष्ट्रीय कार्यकरणी घोषित हो गयी। इस कार्यकरणी को देखने के बाद  स्वतः ही मन  एक पुराने फिल्मी गीत की धुन गुनगुना उठा। "गैरों पे करम, अपनो पर सितम, ऐ जाने वफ़ा ये जुल्म न कर"। जी हां कुछ ऐसी ही सपा की घोषित नई राष्ट्रीय कार्यकरणी।

इस कार्यकरणी में जहां कुछ दिन पहले ही सपा में शामिल हए पूर्व बसपा नेता इंद्रजीत सरोज को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है वही शिवपाल सिंह यादव को पूरी तरीके से दरकिनार कर दिया गया है। 

कहने की जरूरत नही कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जगह न देकर अखिलेश ने शिवपाल सिंह यादव के लिए सपा के रास्ते हमेशा हमेशा के लिए बंद कर दिए है। 

हालांकि विगत कुछ दिनों से जिस तरह शिवपाल सिंह यादव अखिलेश के प्रति नरमी दिखाये हुए थे उससे ये अंदाजा लगाया जा रहा था कि शिवपाल के प्रति अखिलेश के गर्म तेवरों ने कुछ नरमी आयेगी।

खुद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश की मौजूदगी के दौरान मीडिया से कहा था कि परिवार में कोई मतभेद नही है सब एक है, जिसके बाद इस बात को और बल मिला था कि अखिलेश शिवपाल में अब सब कुछ ठीक है और जल्द ही अखिलेश की राष्ट्रीय कार्यकरणी में शिवपाल को महत्वपूर्ण पद मिलेगा। पर महत्वपूर्ण पद तो बहुत दूर की वात है अखिलेश ने अपनी कार्यकरणी में उन्हें सदस्य भी नही बनाया।

ऐसे में ये देखना रुचिकर होगा कि शिवपाल सिंह यादव अपने राजनैतिक कैरियर को लेकर क्या फैसला लेते है क्योंकि अभी तक शिवपाल मुलायम के सम्मान की लड़ाई लड़ रहे थे पर अब जबकि मुलायम सिंह यादव ने खुद अखिलेश को अपना आशीर्वाद दे दिया है, ऐसे में शिवपाल सिंह यादव के अगले कदम पर सबकी नजरें होंगी। 


अखिलेश ने प्रदेशवासियों को दी दीपावली की हार्दिक बधाई
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज प्रदेशवासियों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं दी है।

अपने शुभकामना संदेश में अखिलेश ने कहा है कि इस पर्व को अपने-अपने घरों पर सभी को सादगी के साथ मनाना चाहिए।

उन्होंने  कहा कि अंधविश्वास का अंधेरा दूर होना चाहिए। सत्य के मार्ग पर लोग चलने का संकल्प लें, मन में छल कपट की भावना न हो। जातिवाद से ऊपर उठकर सभी समाज हित में काम करें। परस्पर सद्भाव तथा सौहार्द का वातावरण रहना चाहिए।

इस अवसर पर अखिलेश ने आज पार्टी कार्यालय पर आये सैकड़ों लोगों ने भेंट की।



अधिक राज्य की खबरें