दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद रोजाना घट रहे लाखों यात्री
डीएमआरसी ने कहा है कि उत्तरी दिल्ली के समयपुर बादली को गुड़गांव से जोड़ने वाला व्यस्त कॉरिडोर येलो लाइन पर यात्रियों की संख्या कुल 19 लाख कम हुई .


नई दिल्ली : अक्तूबर में दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़ोतरी के बाद हर रोज मेट्रो से यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में तीन लाख से ज्यादा की कमी आ गई. आरटीआई के एक सवाल के जवाब में यह पता चला है. अक्तूबर में किराया बढ़ाए जाने के बाद यात्रियों की संख्या रोजना औसतन 24.2 लाख रह गई, जबकि सितंबर में औसतन 27.4 लाख लोगों ने प्रतिदिन मेट्रो में सफर किया. इस तरह यात्रियों की संख्या में करीब 11 प्रतिशत की कमी आई .  

आरटीआई के जवाब में दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) द्वारा मुहैया कराए गए आंकड़े के मुताबिक, मेट्रो की सबसे बिजी ब्लू लाइन पर यात्रियों की कुल संख्या में 30 लाख की कमी आई. पचास किलोमीटर की यह लाइन द्वारका को नोएडा से जोड़ती है. मेट्रो के पास दिल्ली-एनसीआर में 218 किलोमीटर का नेटवर्क है. डीएमआरसी ने कहा है कि उत्तरी दिल्ली के समयपुर बादली को गुड़गांव से जोड़ने वाला व्यस्त कॉरिडोर येलो लाइन पर यात्रियों की संख्या कुल 19 लाख कम हुई .

इस जानकारी के सामने आने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, इसका मतलब है कि यात्रियों ने ट्रांसपोर्ट के दूसरे माध्यमों को चुना, इससे प्रदूषण और सड़कों पर जाम बढ़ा. मेट्रो किराए में बढ़ोतरी से किसी को भी फायदा नहीं हुआ है. बता दें मेट्रो के किराए में बढ़ोतरी का दिल्ली सरकार ने पुरजोर विरोध किया था. 

दिल्ली मेट्रो का मौजूदा किराए के तहत 2 किलोमीटर तक के लिए 10 रुपये, 2 से 5 तक के लिए 20 रुपये.  5 से 12 किमी तक के लिए 30 रुपये, 12 से 21 किमी. के लिए 40 रुपए, 21 से 32 किमी. के लिए 50 रुपए, 32 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा के लिए 60 रुपए देने होते हैं.


अधिक बिज़नेस की खबरें