शोहरत के शिखर पर पहुँचने के लिए मेहनत तो करनी ही होगी : अस्मिता कौशिक
अस्मिता ने कहा वह भी शोहरत की सबसे ऊंचे शिखर तक पहुचने के लिए लड़ रही हूँ आप भी लड़िए।


नई दिल्ली : माडलिंग की दुनिया एक ऐसी जगह जिसकी बुलंदियों को छूने की चाह हर किसी के दिल मे होती है पर कुछ वक्त के साथ पीछे छूट जाते है कुछ वक्त से लड़ते हुए अपने मुकाम को पाने के लिए लगातार प्रयत्नशील रहते है कुछ ऐसी है कहानी है सफलता प्रति कदम दर कदम आगे बढ़ रही दिल्ली की बेटी अस्मिता कौशिक की। जो अपनी मेहनत के दम पर माडलिंग की दुनिया मे लगातार अपनी पहचान को स्थापित करती जा रही है। 

पायनियर अलायंस से ख़ास बातचीत में अस्मिता ने अपने अब तक के कैरियर पर खुलकर बात की। 



अस्मिता ने बताया कि उन्होंने अपने कैरियर की शुरुवात दिसंबर 2015 की थी। वहाँ से शुरू हुए अपने कैरियर में मैंने अब तक तीन टाइटल्स जीते इसके अलावा मुझे कई जाने माने डिजाइनर्स के साथ काम करने का मौका मिला।

 अस्मिता ने बताया कि उन्होंने 2015 में सबसे पहले जी-टाउन मिस डेल्ही 2015 का खिताब हासिल किया उसके बाद मैंने मानंपुराम मिस क्वीन इंडिया में मिस क्वीन नार्थ का टाइटल जीता। इसके साथ ही मैंने हाल ही में मिस दिल्ली खादी फैशन शो में सेकंड रनर-अप रही  और अब मैं इसी महीने मिस इंडिया खादी फैशन शो में दिल्ली को रिप्रेजेंट करूंगी।

जहाँ तक सवाल फेमस डिजाइनर्स के साथ काम करने का है तो मैंने फेमस डिजाइनर ललित डालमिया के साथ शूट किया जिसकी पिक्चर्स पेरिस फैशन वीक में प्रदर्शित की गई। इसी तरह मैं धूर्व बंधवाल, अज़ीज़, मौवे स्टोर आदि डिजाइनर्स की शो स्टॉपर रही हूँ। इसके साथ ही मैं स्टार सैलून की कवर मॉडल हूँ। इसके अलावा मैंने कई कंपनियों व ऑनलाइन ब्रांड्स के लिए भी शूट किया है जिनमे फ्लिपकार्ट, ग्लोबल देसी सहित कई ब्रांड्स शामिल है।



इस सवाल पर कि माडलिंग की दुनिया नये लोगो के लिए कितना स्कोप है, अस्मिता कहती है कि स्कोप तो बहुत है पर ये डिपेंड करता है आप पर कि आप कितना अपनी जगह बनाने के लिए प्रयत्नशील हो। वो साफ कहती है कि आसान तो आज के प्रतियोगी दौर में कुछ भी नही है। हर जगह संघर्ष है और जो इन संघर्षों से लड़कर आगे निकलता है वही सफलता हासिल करता है। मैं भी शोहरत की सबसे ऊंचे शिखर तक पहुचने के लिए लड़ रही हूँ आप भी लड़िए, क्योकि 'लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती,
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।' सफलता का यही मूलमंत्र है।


अधिक मनोरंजन की खबरें