गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद राहुल ने तोड़ी चुप्पी, कहा- 'बीजेपी को जनता ने दिया मेसेज'
गुजरात ने मोदीजी और बीजेपी को मेसेज दिया है कि जो गुस्सा और क्रोध आप में है काम नहीं आएगा।


नई दिल्ली : गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद आखिरकार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि वह जनता के निर्णय को स्वीकार करते हैं, लेकिन यह नतीजे बीजेपी और मोदी जी के लिए भी सबक हैं। कांग्रेस के नव-निर्वाचित अध्यक्ष ने यह भी कहा कि देश की जनता बीजेपी के षड्यंत्रों को समझने लगी है और आने वाले समय में इसका असर दिखने लगेगा। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस और मेरे लिए नैतिक और मनोबल की जीत है।'

राहुल गांधी ने गुजरात नतीजों पर कहा, ' गुजरात ने मोदीजी और बीजेपी को मेसेज दिया है कि जो गुस्सा और क्रोध आप में है काम नहीं आएगा। कितना भी गुस्सा हो, कितना भी पैसा हो और फोर्स हो... प्यार इसे हरा देगा और वह प्यार मुझे नजर आया है। गुजरात और हिमाचल में जो लोग चुनाव जीते हैं मैं उन्हें दिल से बधाई देना चाहता हूं। दोनों राज्यों की जनता को भी मैं धन्यवाद देता हूं।' 

गुजरात में विकास पर मुहर लगने के बयान पर राहुल गांधी ने कहा कि यह दिलचस्प है कि चुनाव जीतने के बाद मोदी जी यह बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा, 'इस चुनाव में मोदी जी ने बोला है विकास का चुनाव है, जीएसटी पर मुहर है। उनके भाषणों में न विकास की बात हो रही थी न जीएसटी की। मोदी जी की विश्वसनीयता पर बहुत बड़ा सवाल है। आने वाले समय में दिखेगा कि मोदी जी की विश्वसनीयता नहीं है। 

भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर भी कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने कहा, 'मोदीजी चुनाव प्रचार के दौरान लगातार भ्रष्टाचार की बात करते रहे। पूरे चुनाव प्रचार में एक भी बार उन्होंने न राफेल और न जय शाह के मुद्दे पर एक शब्द भी बोला। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि 50 हजार की जय शाह की कंपनी ने करोड़ों का कारोबार कैसे किया। आप इसके बारे में एक शब्द क्यों नहीं कहते?' राहुल ने यह भी कहा कि तीन महीने में गुजरात की जनता ने मुझे बहुत प्यार दिया। 


अधिक देश की खबरें