बिहार: 10th की 42 हजार कॉपियां गायब होने के मामले में स्कूल प्रिंसिपल गिरफ्तार
मामला गोपालगंज जिले के एसएस गर्ल्स सीनियर सेंकडरी स्कूल का है।


गोपालगंज : बिहार के एक स्कूल में बोर्ड परीक्षा की 42 हजार से ज्यादा कॉपियों के गायब होने के मामले में स्कूल के प्रिंसिपल को गिरफ्तार किया गया है। मामला गोपालगंज जिले के एसएस गर्ल्स सीनियर सेंकडरी स्कूल का है। बताया जा रहा है कि सभी गायब हुई कॉपियां जांची जा चुकी थीं। 

बिहार राज्य विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि गोपालगंज के एसएस गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल के स्ट्रॉन्ग रूम से 213 बैग मैट्रिक की उत्तर पुस्तिकाओं के गायब होने के मामले में स्कूल के प्रिंसिपल प्रमोद कुमार श्रीवास्तव से पुलिस पूछताछ कर आगे की कार्रवाई करेगी। इन गायब उत्तर पुस्तिकाओं में दर्ज अंक पूर्व में ही बीएसईबी को प्राप्त हो गए थे, इसलिए मैट्रिक परीक्षा 2018 के परिणाम और इस परीक्षा में टॉप करने वालों की सूची पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। 

आंसरशीट के कई बैग गायब 
यह मामला तब सामने आया जब बीएसईबी अधिकारी सुजीत कुमार और प्रदीप कुमार शनिवार को दो टॉप रैंक होल्डर के वेरिफिकेशन के लिए आंसशीट कलेक्ट करने पहुंचे लेकिन उन्हें वहां आंसरशीट नहीं मिली। उधर प्रधानाचार्य ने बताया कि बीएसईबी अधिकारियों से सूचना मिलने के बाद वह यूपी के पडरौना स्थित अपने घर से स्कूल पहुंचे और गोपालगंज पुलिस स्टेशन में रविवार को एफआईआर दर्ज कराई थी।

अपनी एफआईआर में पीके श्रीवास्तव ने कहा था कि स्ट्रॉन्ग रूम में हमें आंसरशीट के कई बैग गायब मिले जबकि मेरे अलावा रूम की चाबी सिर्फ केयरटेकर के पास होती है। आनंद ने बताया कि इस मामले में गोपालगंज के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को गायब उत्तर पुस्तिकाओं को बरामद करते हुए पूरे मामले की गहन जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया गया है। 

अब 26 जून को आएंगे रिजल्ट 
बीएसईबी से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पटना स्थित समिति मुख्यालय के सभागार में वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 का रिजल्ट बुधवार के बजाय 26 जून को सुबह 11.30 बजे जारी किया जाएगा। पटना कोतवाली के पुलिस उपाधीक्षक मनोज कुमार सुधांशु ने बताया कि श्रीवास्तव को गिरफ्तार कर उनसे कोतवाली थाना में पूछताछ की जा रही है। 

विपक्ष का सरकार पर हमला 
वहीं बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने ट्वीट कर प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था, कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्था, शांति-सद्भाव, महिला सुरक्षा सहित कई अन्य क्षेत्र में राज्य सरकार के पूरी तरह से विफल रहने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि दसवीं बोर्ड की 42 हजार कॉपियां गायब होना यह दर्शाता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिक्षा व्यवस्था का 'जनाजा' निकाल दिया है। 

वहीं, बीजेपी के बागी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने इसे दुखद बताया और परीक्षा परिणामों को लेकर लगातार हो रही बिहार की बदनामी पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने इसे ठीक करने के लिए सबसे पहले तंत्र को चुस्त दुरुस्त बनाए जाने की आवश्यकता पर जोर दिया। 


अधिक देश की खबरें

छत्तीसगढ़ : बीजेपी-कांग्रेस पर अखिलेश का सीधा हमला कहा – बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं में है मिलीभगत ..

छत्तीसगढ़ में एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भाजपा और कांग्रेस ... ...