कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष बुधवार को दो दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंच रहें हैं. अमेठी से सांसद राहुल गांधी का दौरा सियासी रूप से काफी अहम माना जा रहा है. कांग्रेस की सबसे महत्वपूर्ण सीट माने जाने
File Photo


अमेठी, कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष बुधवार को दो दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंच रहें हैं. अमेठी से सांसद राहुल गांधी का दौरा सियासी रूप से काफी अहम माना जा रहा है. कांग्रेस की सबसे महत्वपूर्ण सीट माने जाने

वाली अमेठी में लगातार बढ़ रही भाजपा की सक्रियता को देखते हुए कांग्रेस अपने इस महत्वपूर्ण किले को सुरक्षित रखने के कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती.

दरअसल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से लगातार अमेठी में सक्रिय है. हालांकि 2019 लोकसभा चुनाव में अभी समय बाकी है, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष अपनी पारिवारिक सीट से पारिवारिक रिश्ता निभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को अमेठी पहुंच रहे राहुल गांधी बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं से मिलकर उनकी समस्याएं सुनेंगे. वहीं, चुनाव को लेकर उनमें उत्साह का संचार भी करेंगे. इस दौरान राहुल गांधी किसानों और व्यापारियों को भी साधने के प्रयास करेंगे. बुधवार को दोपहर 11 बजे राहुल गांधी लखनऊ पहुंचेंगे, जहां से सड़क मार्ग होते हुए वो फुरसतगंज पहुंचेंगे और फुरसतगंज में स्थित उत्सव लीला लान में कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे. साथ ही पत्रकार वार्ता भी करेंगे.

बताया जाता है फुरसतगंज से निकलने के बाद राहुल गांधी जायस के धींगई का पुरवा गांव पहुंचेंगे, जहां मृतक किसान सत्तार के घर जाकर परिजनों से मुलाकात करेंगे. जायस से निकलने के बाद राहुल गौरीगंज कस्बे के माधवपुर में व्यापारियों से मुलाकात करेंगे और कांग्रेस कार्यालय में नवगठित सोशल मीडिया टीम के साथ बैठक करेंगे.

अमेठी पहुंचकर राहुल गांधी कांग्रेस कार्यालय में जिले के विशिष्ट लोगों के परिजनों से मुलाकात करेंगे और यही पर रात्रि विश्राम करेंगे और उसके अगले दिन ताला में किसानों के साथ चौपाल लगाएंगे. फिर एक माह पहले छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवान के परिजनों से मुलाकात करेंगे. इसके बाद वाया लखनऊ होते हुए दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे.


अधिक राज्य की खबरें