हिंदू युवा वाहिनी के पूर्व अध्यक्ष सुनील सिंह होंगे लखनऊ जेल में शिफ्ट
file photo


नई दिल्ली, गोरखपुर के राजघाट थाने में हंगामा करने के आरोपी हिंदू युवा वाहिनी भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह और पार्षद सौरभ विश्वकर्मा के भाई चंदन विश्वकर्मा को दूसरी जेल शिफ्ट करने का आदेश गोरखपुर जेल पहुंच गया है. बताया जा रहा है कि शनिवार को कड़ी सुरक्षा के घेरे में सुनील सिंह को लखनऊ और चंदन को कानपुर जेल लाया जाएगा.जेल प्रशासन ने इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली हैं.

पुलिस ने इस मामले में सुनील समेत 10 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था बाद में लाल डिग्गी पार्क के पास एक कार बरामद हुई थी जिसमें सुनील सिंह का पोस्टर लगा था पुलिस ने यह दावा किया था कि इसमें पेट्रोल बम मिला है और यह सुनील सिंह ही लेकर आए थे इस आधार पर एसएसपी ने कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया था जिसके बाद दोनों पर रासुका की कार्रवाई की गई हैं.

बता दें कि बीजेपी पार्षद सौरभ विश्वकर्मा का भाई चंदन हिन्दू युवा वाहिनी भारत से जुड़ा हुआ है. 31 जुलाई को राजघाट पुलिस ने चंदन को एक व्यक्ति को धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया था. सूचना पाकर मौके पर सीएम योगी की हिन्दू युवा वाहिनी से अलग होकर हिन्दू युवा वाहिनी भारत बनाने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह भी पहुंच गए. सुनील और सौरभ विश्वकर्मा ने मिलकर भाई को छुड़ाने के लिए थाने पर अपने समर्थकों संग हंगामा किया और तोड़फोड़ की थी.

पुलिस ने इस मामले में सुनील सिंह समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. वहीं थाने में हंगामा और तोड़फोड़ के अलावा अन्य संगीन धाराओं में पुलिस ने पार्षद सौरभ विश्वकर्मा पर भी मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश करना शुरू कर दी, लेकिन वह फरार चल रहा था.

हाल ही में हिंदू युवा वाहिनी से अलग होकर सुनील सिंह ने हिंदू युवा वाहिनी भारत नाम से एक अलग संगठन बना लिया था. इसके बाद से आए दिन कुछ ना कुछ विवाद हो रहा था. लेकिन मामले ने तूल पकड़ा तो पुलिस ने फेसबुक पर एक विवादित टिप्पणी के आरोप में हिंदू युवा वाहिनी भारत के महानगर संयोजक चंदन विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद हिन्दू युवा वाहिनी और हिन्दू युवा वाहिनी भारत के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए थे.


अधिक राज्य की खबरें