ईशनिंदा मामला: आसिया बीबी के परिवार को जान का खतरा, पति ने अमेरिका-ब्रिटेन से मांगी मदद
File Photo


पाकिस्तान में ईशनिंदा के मामले में सुप्रीम कोर्ट से दोषमुक्त करार दी गईं ईसाई महिला आसिया बीबी के पति आशिक़ मसीह को जान का खतरा है. अपनी सुरक्षा से डरे मसीह ने ब्रिटेन, अमेरिका और कनाडा से अतंरराष्ट्रीय मदद की अपील की है और वहां पनाह मांगी है.

आशिक मसीह ने एक वीडियो जारी कर ये गुजारिश की. वीडियो में मसीह कर रहे हैं, 'मैं ब्रिटेन की प्रधानमंत्री से मदद की गुहार लगाता हूं कि वो हमारी मदद करें.' मसीह ने इसी तरह की मदद कनाडा और अमरीका के नेताओं से भी मांगी है.

आसिया बीबी के पति आशिक मसीह ने अपने इस गुजारिश से महज एक दिन पहले ही कट्टरपंथी इस्लामवादियों के साथ सरकार के समझौते की आलोचना की थी. उन्होंने इस दौरान प्रशासन से अपनी पत्नी की रक्षा की अपील भी की थी. इस समझौते के चलते आसिया कानूनी रुप से अधर में फंस गई हैं.

आसिया बीबी को 2010 में पड़ोसियों के साथ झगड़े में इस्लाम का अपमान करने का आरोप लगा था. चार बच्चों की मां 47 वर्षीय आसिया बार-बार खुद को बेगुनाह बताती रहीं. हालांकि, पिछले आठ साल में अधिकतर वक्त उन्होंने जेल में बिताया है.

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने 2 नवंबर को दिए अपने एक फैसले में आसिया बीबी को ईशनिंदा के मामले में बरी कर दिया था. फैसला सुनाते हुए चीफ़ जस्टिस मियां साक़िब निसार ने कहा, 'उनकी (आसिया बीबी की) सज़ा वाले फ़ैसले को नामंजूर किया जाता है. अगर अन्य किसी मामले में उनपर मुक़दमा नहीं है तो उन्हें तुरंत रिहा किया जाए.'


अधिक विदेश की खबरें