दिल्ली की हवा बनी जहरीली, राजनीतिक दलों ने लगाए एक-दूसरे पर आरोप
दिल्ली की हवा बनी जहरीली, राजनीतिक दलों ने लगाए एक-दूसरे पर आरोप


नई दिल्ली।विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि भारत में स्मॉग से प्रतिवर्ष 10 लाख लोगों की मौत हो जाती है। दुनिया के बड़े शहरों में से दिल्ली में हवा सबसे ज्यादा खराब हो गई है। दो करोड़ की आबादी वाले इस शहर में गत कुछ वर्षों से हर नवंबर में स्मॉग की मोटी चादर में लिपट जाता है और अस्पतालों में दमे के मरीजों की संख्या में बढोत्तरी हो जाती है।

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने दिल्ली में खतरनाक हद तक बढ़ते प्रदूषण पर चुप्पी साध रखी है। कांग्रेस ने कहा कि शहर 'प्रदूषण आपातकाल' का सामना कर रहा है और प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर चुप हैं। मीडिया से बातचीत में कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी इस मुद्दे पर आड़े हाथों लिया। 

सिंघवी ने कहा कि यहां एक-दूसरे पर आरोप मढ़ने का खेल खेला जा रहा है जिसमें दिल्ली की जनता पिस रही है। मोदी पर निशाना साधते हुए सिंघवी ने कहा कि वह 'स्वच्छ भारत' की बात करते रहते हैं और उधर दिल्ली तथा अन्य कई शहरों की वायु गुणवत्ता खराब हो रही है। 

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का कहना है कि पंजाब में कांग्रेस की सरकार और हरियाणा में भाजपा की सरकार होने के बाद भी वहां की सरकार की नाकामी की वजह से किसानों ने पराली जलाने से दिल्ली के हवा यह हाल बना है। इसलिए दोनों दलों की पूरी जिम्मेदारी बनती है। कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दोनों सरकार से मीटिंग भी की थी लेकिन कोई सार्थक परिणाम नहीं निकल पाया है।


अधिक राज्य की खबरें