पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने कहा- शहबाज शरीफ के घर को घोषित कर दें उप-जेल
File Photo


पाकिस्तान की पंजाब प्रांत की सरकार ने केंद्र को पत्र लिखकर मांग की है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख शहबाज शरीफ के इस्लामाबाद स्थित आवास को उप-जेल घोषित किया जाए.

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के छोटे भाई शहबाज को पांच अक्टूबर को 1400 करोड़ रुपए के ‘आशियाना-ए-इकबाल‘ आवासीय परियोजना घोटाले में गिरफ्तार किया था.

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री शहबाज पर इस योजना में एक सफल बोली लगाने वाले का अनुबंध रद्द करने और अपनी पसंदीदा कंपनी को देने का आरोप है. रमजान चीनी मिल मामले में भी शहबाज (67) को आरोपी बनाया गया है.

शहबाज ने पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर जून 2013 से मई 2018 तक अपना तीसरा कार्यकाल पूरा किया था.

एक्सप्रेस न्यूज ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पंजाब सरकार ने आंतरिक मामलों के सचिव और जिले के अधिकारियों से संपर्क साध कर कहा कि 10 दिसंबर से शुरू हो रहे नेशनल असेंबली के सत्र की अवधि के लिए शहबाज के घर को उप-जेल घोषित कर दिया जाए.

यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब लाहौर की एक जवाबदेही अदालत ने नेशनल असेंबली में नेता प्रतिपक्ष शहबाज को न्यायिक हिरासत में कोट लखपत जेल भेज दिया.

गिरफ्तारी के बाद से नेता प्रतिपक्ष की हिरासत कई बार बढ़ाई जा चुकी है. ‘मिनिस्टर्स एनक्लेव’ को उप-जेल घोषित किए जाने पर भी उन्होंने कई बार नेशनल असेंबली के सत्र में हिस्सा लिया.


अधिक विदेश की खबरें