हॉस्पिटल में जिंदगी की जंग लड़ रहा है ये पूर्व क्रिकेटर, परिवार ने BCCI से लगाई मदद की गुहार
file photo


पूर्व भारतीय क्रिकेटर जैकब मार्टिन की हालत नाजुक बनी हुई है और वह वडोदरा के एक अस्पताल में भर्ती हैं. मार्टिन के इलाज में हर रोज 70 हजार रुपये खर्च हो रहे हैं और अब परिवार वालों को उनके इलाज के लिए पैसों की सख्त जरूरत है.

46 साल के मार्टिन भारत के लिए 10 वनडे खेल चुके हैं. 28 दिसंबर को स्कूटर से यात्रा के दौरान उनका एक्सीडेंट हो गया था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस दौरान उनके लिवर और फेफड़ों में चोट लगी थी और तभी से वह वेंटिलेटर पर हैं.

मार्टिन की पत्नी ने हाल ही में BCCI से मदद की गुहार लगाई है, ताकि उनके इलाज का खर्च कम किया जा सके. उनका परिवार 5 लाख रुपये खर्च कर चुका है और उसके बाद बीसीसीआई ने बेनेवोलेंट स्कीम के तहत 5 लाख रुपये और दिए.

पूर्व बीसीसीआई अधिकारी और वडोदरा क्रिकेट असोसिएशन के सेक्रेटरी संजय पटेल ने बताया, "जैसे ही मुझे एक्सीडेंट के बारे में पता चला मैंने जैकब के परिवार की हर संभव मदद करने की कोशिश की. मैंने कुछ लोगों से बातचीत की, जिनमें बड़ौदा के महाराज समरजीतसिंह गायकवाड़ ने 1 लाख रुपये डोनेट किए. इसके अलावा 5 लाख रुपये अतिरिक्त जुटाए."

उन्होंने आगे कहा, 'अस्पताल का बिल पहले से ही 11 लाख के पार जा चुका है. यहां तक कि एक बार अस्पताल ने दवाइयां मुहैया करानी भी बंद कर दी थीं. बीसीसीआई ने हालांकि उसके बाद पैसे जमा किए और इस तरह से इलाज होना बंद नहीं हुआ.'

पटेल ने कहा, "बीसीए ने आज ही 30 हजार रुपये टीडीएस काटने के बाद 2.70 लाख रुपये दिए हैं लेकिन उनसे ज्यादा की उम्मीद है. गौर करने वाली बात है कि उनकी कप्तानी में ही वडोदरा की टीम ने रणजी ट्रॉफी जीती थी. हाल ही में असोसिएशन ने एक पूर्व रणजी खिलाड़ी की विधवा को 22 लाख रुपये दिए थे."

उन्होंने बताया कि वह पहले से ही राज्य के पूर्व खिलाड़ी जहीर खान और पठान बंधुओं से बातचीत कर चुके हैं और वे वित्तिय सहायता करने के लिए तैयार हैं. पटेल अन्य स्टार खिलाड़ियों से भी बातचीत करेंगे और मदद की गुजारिश करेंगे.


अधिक खेल की खबरें