आधी रात अचानक शिवराज से मिलने पहुंचे सिंधिया, शुरू हुई सियासी अटकलें
file photo


मध्य प्रदेश की राजनीति के दो धुर विरोधी दिग्गजों की सोमवार देर रात मुलाक़ात हुई. सभी को चौंका देने वाली इस मुलाकात को सियासत की सौजन्य भेंट कहा गया. ये मुलाकात कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की थी. इस मुलाकात के जाने कितने मायने निकाले जा रहे हैं.

सिंधिया सोमवार रात अचानक चौहान से मिलने उनके बंगले पर पहुंचे. दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक गुफ़्तगू हुई. मीडिया को इसकी भनक लग गयी और वो भी कयासों को हवा देते हुए मौके पर पहुंच गया. मुलाक़ात के बाद सिंधिया को छोड़ने के लिए चौहान उनकी गाड़ी तक आए.

बाहर निकलने के बाद सिंधिया बोले, 'पूर्व मुख्यमंत्री से मिलने आया था. बहुत सारी बातचीत हुई. मैं ऐसा व्यक्ति नहीं जो कड़वाहट लेकर पूरी जिंदगी बिताऊं. रात गई बात गई.' उन्होंने आगे कहा, 'कांग्रेस सत्ता में है. हमें सबको साथ लेकर चलना है. चुनावी मैदान में रस्साकशी होती है, लेकिन बाद में सब ख़त्म हो जाती है. दिल्ली में हम दूसरी भूमिका में हैं.'

सिंधिया के साथ मुलाकात पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 'हमारे बीच कोई गिले शिकवे नहीं हैं. ये महज़ सौजन्य भेंट थी.'

हालांकि इस मुलाक़ात के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. यह जानना दिलचस्प होगा कि राजनीति में एक दूसरे के कट्टर विरोधी माने जाने वाले सिंधिया और शिवराज के बीच बात क्या-क्या हुई?


अधिक देश की खबरें