ईवीएम हैकिंग मामला : बोले अखिलेश - हम तो पहले से कह रहे है EVM की जगह बैलेट से हो चुनाव
file photo


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर लोकतंत्र को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने सभी लोकतांत्रिक संस्थाओं पर पहरा लगा दिया है. उसने लोकतांत्रिक संस्थाओं को बर्बाद कर दिया है. उन्होंने कहा कि ईवीएम से चुनाव कराने पर सवाल उठ रहे हैं.

जनेश्वर मिश्र की पुण्य तिथि समारोह में शामिल होने पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि दुनिया के तमाम देश जो तकनीकी और विज्ञान में आगे हैं, वह चुनाव प्रणाली के लिए ईवीएम का प्रयोग क्यों नहीं करते हैं. आखिर कुछ तो है जिसकी वजह से वे ईवीएम पर भरोसा नहीं कर रहे हैं. जापान तकनीकी के मामले में दुनिया में सबसे आगे है, लेकिन वहां चुनाव प्रणाली के लिए ईवीएम का प्रयोग नहीं होता है.

यादव ने कहा कि आज सवाल यह उठ रहा है कि देश में लोकतंत्र कैसे बचेगा? आज भी गांवों में लोग भरोसा नहीं कर पा रहे हैं कि, उन्होंने वोट साइकिल को दिया था, तो कमल कैसे जीत गया. उन्होंने कहा ईवीएम को लेकर बड़े सवाल उठे हैं. सवाल उठा है कि ईवीएम हैक की गई थी और जो भी बातें की गई हैं, उसमें तमाम पुरानी बातों का जिक्र है. ईवीएम का सवाल देश की 130 करोड़ लोगों तक जाना चाहिए. जनता को सच्चाई पता चलनी चाहिए.

यादव ने कहा कि जब जापान जैसा तकनीकी रूप से दक्ष देश ईवीएम पर भरोसा नहीं कर रहा है. हमारे देश के लोगों को भरोसा कैसे होगा? यादव गोमतीनगर स्थित जनेश्वर मिश्रा पार्क में समाजवादी चिंतक स्वर्गीय जनेश्वर मिश्र की पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद मीडिया से बात कर रहे थे.
अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव सपा बसपा के लोग मिलकर जीतेंगे. यादव ने कहा कि देश में लोकतंत्र बचाना जरूरी है. बीजेपी ने सारी लोकतांत्रिक संस्थाओं को तहस-नहस कर दिया है. यादव ने कहा कि हमीरपुर, बांदा और जालौन में आज भी अवैध रूप से बालू खनन हो रहा है, लेकिन उसकी जांच सरकार क्यों नहीं करा रही है. इस समय जो अवैध खनन हो रहा है उसमें कौन लोग शामिल हैं.

साधु-संतों पर को पेंशन के सवाल पर एक बार फिर तंज कसते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि अरे देना ही है तो 500 और 1000 रुपए क्यों कम से कम 20-20 हजार रुपए पेंशन दे सरकार. यादव ने कहा कि इस योजना के बाद हमारे गांव में कितने लोग बाबा बन जाएंगे, इसकी गिनती करना मुश्किल हो जाएगा. एक सवाल के जवाब में यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव वही जीतेगा, जो मौन रहेगा. इस चुनाव में जनता ही बीजेपी से हिसाब किताब लेगी. चुनाव जीतना है तो मौन भी रहना होगा.

उन्होंने कहा कि कैराना में बीजेपी के लोग कहते रहे कि अखिलेश यादव आये, लेकिन हम नहीं गए और चुनाव जीत गए. यादव ने कहा कि जनेश्वर मिश्रा की पुण्यतिथि पर सभी समाजवादी लोग यहां इकट्ठा होकर उन्हें पुष्प अर्पित करते हैं और उनके सिद्धांतों और विचारों को याद करते हैं. यादव ने कहा कि जिन सिद्धांतों और विचारों को लेकर गांधी जी चले थे, उन्हीं सिद्धांतों और विचारों पर डॉ राम मनोहर लोहिया चले और उन्हीं सिद्धांतों को जनेश्वर मिश्र जी ने आगे बढ़ाया. आज समाजवादी लोग भी इन्हीं सिद्धांतों को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज समाज में गरीबों, किसानों महिलाओं और नौजवानो के बीच खुशहाली इन्हीं सिद्धांतों से लाई जा सकती है.


अधिक राज्य की खबरें