जब सोनिया गांधी ने कहा था- मेरे बच्चे भीख मांग लेंगे लेकिन राजनीति में नहीं आएंगे
file photo


राजनीति में प्रियंका गांधी के औपचारिक प्रवेश के बाद कांग्रेस में उत्साह की लहर है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें पार्टी का महासचिव नियुक्त किया है. राहुल ने आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए उत्तर  प्रदेश (पूर्व) की जिम्मेदारी सौंपी है. सूत्रों के अनुसार प्रियंका 4 फरवरी को लखनऊ में पदभार संभालेंगी.

लेकिन यह बात कम ही लोगों को पता है कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी कभी नहीं चाहती थीं कि उनके बच्चे राजनीति में आएं. वह इसके पुरजोर खिलाफ थीं.  पत्रकार तवलीन सिंह ने अपनी किताब 'दरबार' में इसका जिक्र किया है.

'दरबार' में लिखा गया है- 'बातों ही बातों में सोनिया गांधी से तवलीन सिंह ने पूछा कि क्या वह चाहती हैं कि उनके बच्चे राजनीति में जाएं? इस पर सोनिया गांधी ने कहा कि मेरे बच्चे सड़क पर भीख मांग लेंगे लेकिन राजनीति में कभी  नहीं आएंगे.'

बता दें प्रियंका की नियुक्ति को कांग्रेस के लिए गेम चेंजर माना जा रहा है. प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने और पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार मिलने के बाद से यूपी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह है. प्रदेश के कई जगहों से उन्हें चुनाव लड़ने को लेकर मांग की जा रही थी. इन्हीं में से एक वाराणसी की सीट भी है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने वाराणसी में पोस्टर लगाकर मांग की है कि प्रियंका गांधी वाराणसी से चुनाव लड़ें.


अधिक देश की खबरें

लिखित में माफी मांगने पर हुई थी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की वापसी : सिंधिया..

शिवपुरी। कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के साथ दुव्यर्वहार करने वाले कार्यकर्ताओं की पार्टी में वापसी से नाराज ... ...