काकोरी मे दबंगो ने मारी युवक को गोली
गोली युवक के पेट मे लगी और वो लहुलुहान होकर गिर गया


लखनऊ। काकोरी के फुल बाग मे शुक्रकार को हुए नौ साल के बच्चे के अपहरण के प्रयास की घटना को लोग अभी भूल भी नही पाए थे कि आज फिर काकोरी कस्बे मे दबंगो ने एक 24 वर्षीय युवक को गोली मार दी। गोली युवक के पेट मे लगी और वो लहुलुहान होकर गिर गया। गोली मारने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। इन्स्पेक्टर काकोरी के अनुसार युवक को गोली मारे जाने के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है उन्होने बताया कि घायल को ट्रामा सेन्टर मे भर्ती कराया गया है। इन्स्पेक्टर के अनुसार अभी तहरीर नही मिली है और न ही किसी को अभी हिरासत मे नही लिया गया है। ट्रामा सेन्टर मे भर्ती कराए गए युवक की हालत नाजुक बताई जा रही है। जानकारी के अनुसार कस्बा काकोरी मे अपने परिवार के साथ रहने वाले किसान राम गोपाल के 24 वर्षीय पुत्र जितेन्द्र रावत को शनिवार को कुछ दबंगो ने उस समय गोली मार दी जब जितेन्द्र अपने घर के करीब अपने बाग मे बैठा हुआ था गोली जितेन्द्र के पेट के निचले हिससे मे लगी और वो वही लहुलुहान होकर गिर गया। जितेन्द्र को गोली मारने के बाद हमलावर फरार हो गए सूचना पाकर पहुॅची काकोरी पुलिस ने घायल जितेन्द्र को ट्रामा सेन्टर मे भर्ती कराया जहंा उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। स्थानीय लोगो का कहना था कि जितेन्द्र बाग मे अपने कुछ साथियो के साथ बैठा शराब पी रहा थाा तभी कुछ वाद विवाद हुआ और उसे गोली मार दी गई लेकिन इन्स्पेक्टर काकोरी ओम प्रकाश रजक का कहना पता चला है कि जितेन्द्र को प्रेम प्रसंग के विवाद मे गोली मारी गई है उनका कहना था कि अभी कोई तहरीर नही मिली है न ही किसी को हिरासत मे लिया गया है। बताया जा रहा है कि जितेन््रद रावत और विशाल पहचाना के बीच जमीन को लेकर विवाद काफी दिनो से चल रहा था। ट्रामा सेन्टर मे भर्ती घायल जितेन्द्र के परिजनो का कहना है कि जमीनी विवाद मे जितेन्द्र को गोली मारी गई है। सूत्रो का कहना है कि जिस स्थान पर जितेन्द्र को गोली मारी गई वहा आसपास कुछ पुलिस कर्मियो की मिली भगत से सटटे का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है अक्सर यहंा लड़ाई झगड़ा भी होता रहता है। सूत्र बताते है कि घटना स्थल गोला घर के आसपास रहने वाले तमाम लोगा स्टोरियों के आतंक से परेशान है लेकिन दबंगो की दबंगई की वजह से कोई इन सटोरियो का खुल कर विरोध नही कर पाता है। सूत्रो के अनुसार यहा पुलिस की साठगाठं से सटटे का कारोबार करने वाले दबंगो द्वारा जमीनो पर अवैध कब्जे किए जाने की खबरे भी मिलती रहती है लेकिन दबंगो के पर्चस्व के सामने स्थानीय लोग कभी खड़े होने मे भी डरते है। गोला घर के पास जितेन्द्र को गोली मारे जाने की घटना के सम्बन्ध मे सीओ मलिहबाद को काल की गई लेकिन उन्होने काल रिसीव नही कि एएसपी गा्रमीण द्वारा संवादाता की काल ये कह कर बिना जवाबब दिए डिस्कनेक्ट कर दी गई कि अभी व्यस्त है बाद मे बात करेंगे।


अधिक राज्य की खबरें