आजम खान नार्मल व्यक्ति नही: जया प्रदा
जया प्रदा


जीएनएस
रामपुर। नवाबों की नगरी रामपुर में लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान माहौल बेहद गरमाता जा रहा है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के मंच पर मौजूदगी के दौरान आजम खान के जया प्रदा के खिलाफ अभद्र टिप्पणी के बाद रामपुर की तरफ हर निगाह है। इसी बीच आजम खान की टिप्पणी से परेशान जया प्रदा ने तो इतना तक कह दिया कि आजम साहब क्या मैं मर जाऊं तक आप खुश रहेंगे। उन्होंने इस दौरान यह भी कहा कि जब अखिलेश अपने पिता के नही हुए तो किसके होगे। टिप्पणी के बाद पहले साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि मुझे नही मालूम मुझसे वो क्यो नाराज है। हाॅ यह जरूर है कि उनके द्वारा गरीबों की जमीन हड़पने आदि कार्यो का मैने खुला विरोध किया है। उनसे यह पूछने पर की आपको धमकी मिल रही फिर भी आप रामपुर से चुनाव लड़ रही है, उन्होंने कहा कि मै भी जिद्दी हूॅ। भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी एवं फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा ने कहा कि आजम खान ने अब लक्ष्मण रेखा पार कर दी है।  पहले भी  हमें परेशान करते रहे हैं और अब फिर हमारे बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे हैं । अश्लील बयानबाजी कर रहे हैं। पिछले चुनाव में उन्होंने अश्लील फोटो बटवाए थे और इस चुनाव में शाहबाद में अखिलेश यादव की मौजूदगी में बहुत ही घटिया बयान बाजी की है। इससे सिर्फ जयाप्रदा का नहीं बल्कि तमाम महिलाओं का अपमान हुआ है।
अखिलेश यादव को उनके खिलाफ फौरन कार्रवाई करनी चाहिए, पार्टी से निकाल देना चाहिए, लेकिन अखिलेश यादव इसलिए कार्रवाई  नहीं करते हैं क्योंकि वे समझते हैं कि आजम  मुसलमानों के कद्दावर नेता है और उनके साथ मुसलमानों के वोट हैं। आजम खान उन्हें यहां से भगाना चाहते हैं लेकिन वह डर कर भागने वाली नहीं है। उन्हें चुनाव में हराकर करारा जवाब देंगी।  जयाप्रदा ने सोमवार को मीडिया से वार्ता के दौरान यह बात कही। गौरतलब है कि आजम खान ने कल शाहबाद में हुई जनसभा में कहा था कि जयाप्रदा जो अंडरवियर पहनती है उसका रंग खाकी है।
आजम खान के ‘‘ खाकी अंडरवियर ’’ वाले बयान पर जया प्रदा ने कहा कि मैंने उनके साथ ऐसा क्या कर दिया कि वो ऐसा कह रहे हैं। जया प्रदा ने कहा कि रामपुर में आजम खान की मौजूदगी के दौरान उनके लिए यह नई बात नहीं है। इसके साथ ही जया प्रदा ने कहा कि मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ ऐसा क्या कर दिया कि वे ऐसी बातें कर रहे हैं। जया प्रदा ने कहा कि यह मेरे लिए नया नहीं है. आपको याद होगा कि मैं 2009 में उनके पार्टी की उम्मीदवार थी, जब उन्होंने मेरे खिलाफ टिप्पणी की तो किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया। मैं तो एक महिला हूं और जो उन्होंने कहा वह मैं दोहरा भी नहीं सकती। मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ क्या किया है, जो वे ऐसी बातें कह रहे हैं। उन्होंने टिन्पणी के एक साक्षात्कार में कहा कि आजम खाॅ नार्मल व्यक्ति नही है। 2009 में भी अश्लील पोस्टर बटवाना इनकी फितरत का उदाहरण है। उस व्यक्ति ने मुझे हमेशा प्रताड़ित किया। अखिलेश को मै अपना छोटा भाई मानती हूॅ लेकिन वो भी आजम पर कार्रर्वा नही करेगें क्योकि उन्हें मुस्लिम वोट चाहिए। रविवार को आजम खान ने जनसभा के दौरान जयाप्रदा पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिससे अपना प्रतिनिधित्व कराया। उनकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है। उन्होंने इस बयान में जयाप्रदा का नाम नहीं लिया था। अब इस मामले का महिला आयोग ने एक बार फिर संज्ञान लिया है जबकि केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने भी मुलायम सिंह यादव को संबोधित करते हुए एक ट्वीट भी किया है। 


अधिक राज्य की खबरें