सोनिया गांधी के नेतृत्व में विपक्षी दलों की अब 24 मई को होगी बैठक
बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि एग्जिट पोल के नतीजों में राजग को फिर से सरकार बनाने की स्थिति में होने के बावजूद विपक्ष अभी अपनी हार स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है।


नई दिल्ली, 20 मई (हि.स.)। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में विपक्षी दलों की बैठक अब 24 मई को होगी। इससे पहले यह बैठक ऐन मतगणना के दिन 23 मई को बुलाई गई थी, जिसमें चुनावी नतीजों को लेकर रणनीति बनाई जानी थी। 

बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि एग्जिट पोल के नतीजों में राजग को फिर से सरकार बनाने की स्थिति में होने के बावजूद विपक्ष अभी अपनी हार स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है। यही कारण है कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू हर रोज बैठकों का दौर जारी रखे हुए हैं। इसके तहत उन्होंने संप्रग मुखिया सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रमुख शरद पवार, माकपा नेता सीताराम येचुरी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती से भी मुलाकात करने के अलावा ममता बनर्जी व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मिल चुके हैं। 

बताया जा रहा है कि 24 मई को होने वाली इस महत्वपूर्ण बैठक में बसपा प्रमुख मायावती की बजाय उनके प्रतिनिधि के तौर पर सतीश मिश्रा शामिल होंगे। विपक्ष की रणनीति यह है कि भाजपा को सत्ता से रोकने के लिए हरसंभव कोशिश की जाए और हवा का थोड़ा सा भी रुख विपक्ष के पक्ष में होने पर वह अपनी रणनीति को अंजाम देने में चूक न कर सके। 
विपक्षी दलों का मानना है कि ज्यादातर अवसरों पर एग्जिट पोल के नतीजे सही नहीं रहे हैं। ऐसे में सभी विपक्षी दलों को भी पूरी तरह से चाक-चौबंद रखने की जरूरत को देखते हुए ही बैठक के लिए सभी को आमंत्रित किया गया है। 


अधिक देश की खबरें