कुर्बानी के जानवर की खाल आतंकियों के हाथ में नहीं पड़े : पाक पुलिस
पाकिस्तान में इन चमड़ों को बेचकर इनका धन प्रतिबंधित संगठनों के खाते में पहुंचने की घटनाएं भी आम हैं जिसे लेकर सुरक्षा एजेंसियां चिंतित हैं।


रावलपिंडी : पाकिस्तान में पुलिस को इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि बकरीद के मौके पर कुर्बानी वाले जानवरों की खाल किसी भी कीमत पर प्रतिबंधित संगठनों के हाथ नहीं लगनी चाहिए। ऐसे कई संगठन नाम बदलकर खाल हड़पने की फिराक में हैं जिन पर कड़ी नजर रखने के लिए कहा गया है। इस्लाम धर्म के अनुसार कुर्बानी के जानवर के चमड़े को बेचकर इससे मिलने वाले धन का इस्तेमाल गरीबों के हित में और सामाजिक कार्यों के लिए किया जाता है। 

पाक में प्रतिबंधित संगठनों के पैसा मिलने से सुरक्षा एजेंसियां चिंतित 
पाकिस्तान में इन चमड़ों को बेचकर इनका धन प्रतिबंधित संगठनों के खाते में पहुंचने की घटनाएं भी आम हैं जिसे लेकर सुरक्षा एजेंसियां चिंतित हैं। यह संगठन धर्मार्थ कार्य की आड़ में अपनी समाज विरोधी गतिविधियों के लिए धन इकट्ठा करने में कामयाब हो जाते हैं। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, रावलपिंडी में पुलिस अफसरों की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया।

शहर पुलिस अधिकारी (सीपीओ) फैसल राणा ने बकरीद से पहले प्रतिबंधित संगठनों के सदस्यों व फोर्थ शेड्यूल (जिसमें प्रतिबंधित संगठनों के संदिग्ध सदस्यों के नाम हैं) में शामिल लोगों के खिलाफ व्यापक पैमाने पर अभियान शुरू करने का निर्देश दिया। 


अधिक विदेश की खबरें

अजीज अंसारी दुनिया के दसवें सर्वश्रेष्ठ कॉमेडियन : फोर्ब्स पत्रिका ..

भारतीय-अमेरिकी कॉमेडियन अजीज अंसारी को फोर्ब्स पत्रिका ने मौजूदा वित्त वर्ष में दुनिया के दसवें सर्वश्रेष्ठ कॉमेडियन ... ...