उन्नाव कांड: अखिलेश ने सरकार को जिम्मेदार ठहराया, कांग्रेसियों ने भाजपा मुख्यालय घेरा
रायबरेली दुर्घटना को लेकर सियासत तेज हो गई है।


लखनऊ : रायबरेली दुर्घटना को लेकर सियासत तेज हो गई है। मंगलवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार से मिले और पूरे मामले में प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने सरकार पर मिलीभगत का आरोप लगाया है। प्रियंका वाड्रा ने भी ट्विट किया है। इधर, भारी संख्या में कांग्रेसियों ने भाजपा मुख्यालय का घेराव कर प्रदर्शन किया। इसमें पुलिस ने कई नेताओं को हिरासत में लिया है। 

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि पीड़िता अस्पताल में जिंदगी और मौत के मुंह से लड़ रही है। उसकी जान बचेगी की नहीं, अपने जीवन से लड़ाई लड़ रही है। उसके परिवार के सदस्य मांग कर रहे है कि उनका सदस्य जो जेल में वो तो बाहर आ जाये। क्या गुनाह कर रहा है परिवार, अगर परिवार को सरकार के किसी कर्मचारी पर नहीं भरोसा है उन्हें चाचा पर भरोसा है तो सरकार उसके लिए भी कुछ नहीं कर रहे है। अस्पताल के बाहर बैठकर मांग कर रहे है। हम तो कहते है कि सरकार को सामने आना चाहिये। पीड़ित परिवार की मदद करना चाहिये। क्योंकि जनता ने बहुत भरोसा करके सरकार बनायी है। ये सरकार की जिम्मेदारी है कि उसका कोई भी नागरिक दुख तकलीफ में न हो। जब बेटी दुख तकलीफ में होगी तो सोचा कौन न्याय देगा। उन्होंने यह आरोप लगाया है कि सरकार के निगरानी में ही पूरी घटना हुई है। पुलिस के सामने ही पीड़ित के पिता की पिटाई हुई क्या सरकार और मुख्यमंत्री  को नहीं पता होगा। क्या ये जो घटना हुई है इसमे जो दोषी है उनके खिलाफ  कार्रवाई नहीं होगी, क्या परिवार मांग रहा है। परिवार की मांगे पूरी हो जिनको इतने वर्षों से न्याय नहीं मिला है, सरकार को उन्हें न्याय दिलाना चाहिये।

उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार कानून व्यवस्था में सुधार का दावा कर रही है लेकिन अपराध बढ़ते ही चले जा रहे हैं। पीड़िता के पिता को मार दिया गया। उसके चाचा को जेल में डाल दिया गया लेकिन सरकार विधायक पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि जेल में हत्याएं हो रही हैं। जेलों में अपराधी क्या कर रहे हैं। इसकी खबरें लगातार मीडिया में आती रहती हैं। इन सबके लिए पुलिस जिम्मेदार है और पुलिस वही कर रही है जो सरकार कहती है। अखिलेश यादव ने कहा कि हमने संसद में मांग की कि एक सिटिंग जज से मामले की जांच करवाई जाए और दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिले।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। संसद से लेकर सड़क तक पार्टी पीड़ित की लड़ाई लड़ेगी। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार की जो मांगे है, सरकार को फौरन मान लेना चाहिये। उन्होंने कहा कि पार्टी फंड से पीड़ित परिवार को दस लाख रुपये आर्थिक सहायता देगी। 

यूपी सरकार की इस कांड में मिलीभगत: मायावती
मायावती ने टिव्ट के जरिये लिखा कि “उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के परिवार वालों की संदिग्ध हत्या के बाद उनके अंतिम संस्कार के लिए चाचा को पेरौल पर रिहा नहीं होने देना अति-अमानवीय है। यह यूपी सरकार की इस कांड में मिलीभगत को साबित करता है। परोल की मांग को लेकर रिश्तेदार मेडिकल कॉलेज में धरने पर बैठे है, सरकार तुरंत ध्यान दे। साथ ही स्थानीय बीजेपी सांसद साक्षी महाराज द्वारा जेल में रेप आरोपी बीजेपी विधायक से मिलना यह प्रमाणित करता है कि गैंग रेप आरोपियों को लगातार सत्ताधारी बीजेपी का संरक्षण मिल रहा है, जो इंसाफ का गला घोटने जैसा है। मा. सुप्रीम कोर्ट को इसका संज्ञान अवश्य लेना चाहिए।

प्रियंका वाड्रा ने किया ट्विट 
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने टिवट किया है। इसमें उन्होंने कहा कि भगवान के लिए, श्री प्रधानमंत्री, इस अपराधी और उसके भाई को विभाजित करते हैं। हम कुलदीप सेंगर जैसे लोगों को राजनीतिक शक्ति की ताकत और संरक्षण क्यों देते हैं और अपने पीड़ितों को अकेले अपने जीवन की लड़ाई के लिए छोड़ देते हैं। इस प्राथमिकी में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि परिवार को धमकी और आशंका थी। इसमें योजनाबद्ध दुर्घटना की संभावना का भी उल्लेख किया गया है।

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष मिली
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल मंगलवार को धरने पर बैठे परिवार से मिलने पहुंची। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि पीड़ित परिवार के साथ न्याय होगा। पीड़ित से मिलने के बाद अध्यक्ष ने अपने टिव्ट में लिखा है कि इस देश में बेटी पैदा होना ही गुनाह हो गया है। माँ ने पति खोया, देवर देवरानी खोये और अब बेटी, उसका वक़ील ज़िंदगी मौत की लड़ाइ लड़ रहे हैं। पहले भी प्रदेश सरकार ने कुलदीप सेंगर से डर इनकी मदद नहीं की और आज भी बुत बने है। धूप में धरना करने पे मजबूर माँ की सुध अभी तक प्रदेश सरकार ने नहीं ली। 

कांग्रसियों ने घेरा भाजपा मुख्यालय, लाठीचार्ज  
रायबरेली घटना को लेकर सियासत तेज हो गई है। इसको लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे है। कांग्रेसियों ने भाजपा मुख्यालय का घेराव किया है। धरने पर विधायक आराधना मिश्रा सांसद सावित्रीबाई फुले और पूर्व सांसद राकेश सिंह, अजय सिंह लल्लू समेत भारी संख्या में प्रदर्शन कर रहे है। बवाल को देखते हुए पुलिस ने अजय सिंह लल्लू समेत कई लोगों को हिरासत में लिया है। इसके साथ ही पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज किया है। 


अधिक राज्य की खबरें