डीएल पोर्टल का सफल प्रयोग, अब आवेदक खुद देख सकेंगे अपने लाइसेंस की लोकेशन  
दो से तीन दिन के भीतर एनआईसी पोर्टल को अपलोड कर देगी।


लखनऊ : उत्तर प्रदेश के लखनऊ परिवहन विभाग द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) की समस्या को देखते हुए उसकी लोकेशन का पता लगाने वाले पोर्टल का सफल प्रयोग किया है। जिससे आवेदक खुद इस पोर्टल के माध्यम से जल्द ही अपने डीएल की लोकेशन देख सकेंगे। 


अपर परिवहन आयुक्त (आईटी) विनय कुमार सिंह ने गुरुवार (आज) बताया कि ड्राइविंग लाइसेंस की लोकेशन का पता लगाने वाले पोर्टल का सफल प्रयोग किया गया है। इस पोर्टल पर आवेदक जल्द ही अपने डीएल की लोकेशन देख सकेंगे। 


बता दें कि इस पोर्टल से आवेदकों को डीएल की लोकेशन आसानी से पता चल जाएगा। डीएल कहां पहुंचा, जानकारी के लिए अब इधर-उधर भटकने की जरूरत नहीं होगी। दो से तीन दिन के भीतर एनआईसी पोर्टल को अपलोड कर देगी। जहां आवेदक डीएल एप्लीकेशन नम्बर और जन्मतिथि का ब्योरा पोर्टल पर दर्ज करके आसानी से इसके बारे में पता लगा सकते हैं। इस पोर्टल को स्मार्ट चिप कंपनी ने तैयार किया है। 


दरअसल, गलत पिन कोड और पता की वजह से पूरे  उत्तर प्रदेश से अभी तक करीब 24 हजार डीएल वापस लौटकर परिवहन मुख्यालय लखनऊ आ गए हैं। वहीं, डीएल  आवेदकों को पता ही नहीं चल पा रहा है कि उनका लाइसेंस कहा है। 

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)


अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें