प्रधानमंत्री की नोटबंदी ने देश को फुटबॉल बना दिया है: लालू
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया कि नोटबंदी लागू कर प्रधानमंत्री ने देश को फुटबॉल बना दिया है |


पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया कि नोटबंदी लागू कर प्रधानमंत्री ने देश को फुटबॉल बना दिया है | विगत कुछ दिनों से प्रधानमंत्री को नोटबंदी के लिए सोशल मीडिया पर आड़े हाथों लेते हुए यादव लगातार ट्वीट कर रहे हैं । अपने अंदाज़ में ट्वीट करते हुए उन्होंने गुरुवार को लिखा कि मोदी ने देश को फुटबॉल बना दिया है। उन्होंने व्यंग्यात्मक अंदाज़ में लिखा है कि मोदी एक तरफ किक मारते हैं, दूसरा मंत्री दूसरी तरफ से, तीसरा मंत्री किसी और तरफ से 1 उन्होंने आगे लिखा कि रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया की अपनी किक है और वित्त विभाग की अपनी हर तरफ से किक मार मारकर मोदी ने देश को फुटबॉल बना दिया है। नोटबंदी पर अपने प्रहार को तेज़ करते हुए लालू यादव ने 

प्रधानमन्त्री को धूल में प्रहार करना बंद करने की सलाह दी और लिखा कि धूल में लट्ठ मारना बंद करिए। उन्होंने मोदी को आत्ममुग्धता एवं आत्मप्रसिद्धि से बचने की सलाह देते हुए कहा कि आत्ममुग्धता एवं आत्मप्रसिद्धि के फ्रेम से बाहर निकलकर प्रधानमन्त्री को विवेकपूर्ण तरीके से देश को चलाना चाहिए। गरीब जनता को परेशान करने का प्रधानमन्त्री पर आरोप लगाते हुए लालू यादव ने कहा कि मोदी अपने फैसलों से गरीबों को तबाह कर रहे हैं 

बुधवार को लालू यादव ने पीएम मोदी से ट्वीट कर कहा कि मोदी की नोटबंदी से देश की आम गरीब जनता तो तबाह कर रहे हैं जबकि सारा कालाधन भाजपाइयों और बीजेपी के पास से ही बरामद हो रहा है| राजद नेता ने मोदी को सर्वप्रथम अपने दल के अन्दर पड़े काले धन की सफाई करने की सलाह देते हुए अपने बेबाक अंदाज़ में कहा कि " मोदी जी पहले अपना आंगन तो बुहार लो"1 उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव की तैयारियों में डूबे उत्तरप्रदेश के गोरखपुर के चंवरी जंगल में हाल ही में भाजपा के स्टीकर लगे टीवीएस कंपनी की दो सौ 
अड़तालीस दो पहिया वाहन बरामद होने के बाद भाजपा पर राजनैतिक हमले तेज़ हो गए हैं 

यादव ने भी इस मौके का लाभ लेते हुए भाजपा पर कालाधन रखने का आरोप लगाया और कहा कि सारा कालाधन भाजपा के पास से ही निकल रहा है। आरएसएस के विचारक एस गुरुमूर्ति के दो हजार के रुपये के नए नोट के चलन से शीघ्र बाहर किए जाने की घोषणा के खिलाफ एक और ट्वीट के माध्यम से लालू यादव ने जमकर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इस मुद्दे पर प्रधान मंत्री, वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक को अपना स्पष्टीकरण देना चाहिए । 

गुरुमूर्ति की 2000 के नए नोटों के बारे में की गई घोषणा पर सवाल खड़ा करते हुए ट्वीट कर जानना चाहा कि गुरुमूर्ति को सरकार के नीतिगत फैसलों के बारे में घोषणा करने का अधिकार कब दिया गया ? उल्लेखनीय है कि गुरुमूर्ति ने सोमवार को कहा था कि नकद की समस्या के समाधान होने के बाद 2000 के नोट को अगले पांच साल में वापस ले लिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के पांच सौ और एक हजार रुपये के नोटों को चलन से बाहर किए जाने के फैसले के बाद देश में उपजी नकदी की समस्या से निपटने के लिए दो हजार रुपये के नए नोट जारी किए गए थे जिनका नकद की समस्या का समाधान होने के बाद चलन में बनाए रखने का कोई औचित्य नहीं है। 


अधिक देश की खबरें