बड़ी खबर: एम्स के एक और डॉक्टर ने फांसी लगाकर दी जान, जांच में जुटी पुलिस
एक तरफ जहां देश के डॉक्टर कोरोना वायरस से लगातार जंग लड़ रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर लगातार एम्स जैसे भारत के नंबर एक अस्पताल में लगातार डॉक्टरों की मौत की खबर सामने आ रही है।


नई दिल्ली। एक तरफ जहां देश के डॉक्टर कोरोना वायरस से लगातार जंग लड़ रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर लगातार एम्स जैसे भारत के नंबर एक अस्पताल में लगातार डॉक्टरों की मौत की खबर सामने आ रही है। जो काफी चिंताजनक है। दिल्ली एम्स में संदेहास्पद मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहे है। इसी क्रम में शुक्रवार को एम्स दिल्ली में कार्यरत एक डॉक्टर ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

जानकारी के मुताबिक डॉक्टर ने अपने घर पर खुदकुशी की है। वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस स्टेशन हौज खास में दोपहर लगभग 3 बजे एक पीसीआईर कॉल आई थी कि गौतम नगर के एक घर से दुर्गंध आ रही थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब दरवाजा खोलकर देखा, तो वहां डॉक्टर का शव लटकता मिला।


फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और जांच शुरू कर दी है। गौरतलब हो कि यह इस तरह का पहला मामला नहीं है। इससे कुछ दिन पहले ही एम्स में पढ़ रहे एक मेडिकल स्टूडेंट ने भी जान दे दी थी। पुलिस के मुताबिक उसने एम्स के हॉस्टल नंबर 19 की छत से कूदकर अपनी जान दे दी थी। डॉक्टर की पहचान विकास के रूप में हुई थी, जिनकी उम्र 22 साल बताई जा रही थी।

जुलाई में भी एक डॉक्टर ने की थी आत्महत्या

इससे पहले जुलाई महीने में भी एक डॉक्टर ने एम्स के हॉस्टल की इमारत से कूदकर अपनी जान दे दी थी। डॉक्टर ने एम्स के 18वें हॉस्टल की बिल्डिंग से कूदकर जान दी थी। 25 साल के उस डॉक्टर की पहचान अनुराग के रूप में हुई थी, जो कि एम्स के साइकेट्री विभाग में ही जूनियर डॉक्टर के पद पर कार्यरत थे।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)



अधिक देश की खबरें