2022 में सीएम आवास में छिड़का जायेगा गंगाजल: अखिलेश
अखिलेश ने यह बात मीडिया द्वारा मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के गृह प्रवेश से पहले पांच कालीदास मार्ग के शुद्धीकरण के सवाल पर कही।


लखनऊ : सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को राज्य की नवगठित आदित्यनाथ योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वर्ष 2022 के चुनाव में जब उनकी पार्टी दोबारा सत्ता में आएगी तो फायर बिग्रेड की गाड़ी में गंगाजल भरा जायेगा और पूरे मुख्यमंत्री आवास पांच कालीदास मार्ग में छिड़का जायेगा। अखिलेश ने यह बात मीडिया द्वारा मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के गृह प्रवेश से पहले पांच कालीदास मार्ग के शुद्धीकरण के सवाल पर कही। 

वह पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद मीडिया से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुझे सीएम हाउस के शुद्धीकरण से कोई समस्या नहीं है। मुझे केवल यही चिन्ता है कि वह उन तीन मोर का खाना दे रहे हैं या नहीं, जो वहां रहते हैं। उनका स्वास्थ्य कैसा है, क्योंकि हम उन मोरों के लिए अलग से खाने का इन्तजाम करते थे। उन्होंने कहा कि सुना है गाय-बछड़े आने वाले हैं हमारे मोर का भी ख्याल रखना। उन्होंने कहा कि लखनऊ में भर्ती एसिड अटैक पीड़िता से मिलने हमारी पार्टी के लोग भी जाएंगे। 

मालूम होता तो अधिकारियों से लगवाते झाड़ू सपा अध्यक्ष ने कहा कि हमने हार की समीक्षा की है। अभी यह समीक्षा चल रही है। पार्टी के संविधान में बदलाव किया गया है। आगामी 15 अप्रैल से हमारा सदस्यता अभियान शुरू होगा और पूरे प्रदेश में यह सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने प्रदेश सरकार के काम को लेकर पूछे सवाल पर कहा कि अभी तो कुछ बड़ा काम नहीं किया। कैबिनेट की बैठक होना बाकी है। उन्होंने कहा कि 30 सितम्बर से पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा। 

योगी सरकार के कामकाज पर चुटकी लेते हुए अखिलेश ने कहा कि अभी तो केवल झाड़ू लग रहा है। हमें नहीं मालूम था कि हमारे अधिकारी इतनी अच्छी झाड़ू लगाते हैं। मालूम होता तो हम भी खूब झाडू लगवाते। वहीं प्रदेश में बूचड़खाने बन्द कराने पर उन्होंने कहा कि हमारे शेर बहुत भूखे हैं, नजदीक मत जाना। डॉयल 100 और वूमेन पॉवर लाइन के स्टिकर हटाने से कुछ नहीं होगा अखिलेश ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि योगी जी उम्र में भले ही आप बड़े होंगे लेकिन काम में बहुत पीछे हैं। 

उन्होंने कहा कि डॉयल 100 और वूमेन पॉवर लाइन के स्टिकर हटाने से कुछ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि एण्टी रोमियो दल से युवा परेशान हो रहे हैं। पुलिस वाले दावा कर रहे हैं कि वह आंखें देखकर असली रोमियो का पता बता सकते हैं। यह भाजपा सरकार में ही हो सकता है। उन्होंने मेट्रो को लेकर कहा कि मुझे उम्मीद है तेजी से मेट्रो चलेगी। गोरखपुर और झांसी में मेट्रो में का इन्तजार रहेगा। उन्होंने कहा कि हम भी नई सरकार को छह महीने का समय दे रहे हैं। 

हत्या-रेप की घटनाओं के साथ लगे सीएम योगी की फोटो अखिलेश ने भविष्य में किसी महागठबंधन की संभावना पर कहा कि इस पर अभी कुछ नहीं कह सकते, अभी हमारा कांग्रेस से गठबंधन है। उन्होंने कहा कि हम पोस्टल से जीते, ईवीएम से हारे, यह बात समझ में नहीं आयी। ईवीएम पर अगर आरोप लग रहे है तो जांच कराने में क्या दिक्कत है। काफी संख्या में लोग एफिडेविड में लिखकर देने को तैयार हैं कि हमें वोट दिया गया है। 

बहकाने से कभी-कभी लोग बहक जाते हैं। बहकाने से सरकार बन जाती है, एक बार राज्यपाल राम नाईक ने कहा था कि सभी यादव बैठे हैं। हम तो मीडिया से भी कहेंगे कि मत बहको। मुझे अब उस दिन का इन्तजार है कि जब आप लोग यूपी में होने वाली हत्या-रेप की घटनाओं पर उसी तरह सीएम योगी की फोटो के साथ खबरें दिखाएंगे जैसे मेरी दिखाया करते थे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि हिमांशु कुमार आईपीएस अधिकारी हैं और कार्यवाही हुई है। 

केवल एक विशेष जाति के पुलिसकर्मियों का तबादला, निलम्बन किया जा रहा है, हर कोई जानता है। लेकिन क्या आप इसे रिपोर्ट करेंगे? उन्होंने कहा कि सिपाहियों को सस्पेन्ड करने से क्या फायदा उपर के अधिकारियों पर भी कार्रवाई हो। उन्होंने हर महीने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक और मीडिया से मिलने की भी बात कही। इससे पहले पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव शामिल नहीं हुए। हालांकि, इसकी उम्मीद जतायी जा रही थी कि दोनों नेता इसमें शामिल हो सकते हैं। माना जा रहा था कि बैठक में चुनाव के दौरान पार्टी को नुकसान पहुंचाने वालों पर गाज गिर सकती है। हालांकि अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत में इस पर कोई टिप्पणी नहीं की।


अधिक राज्य की खबरें