मौजूदा जीएसटी गेमचेंजर नहीं, 6 साल बाद लागू करना 12 लाख का नुकसान : कांग्रेस
कांग्रेस ने जीएसटी लागू करने की कोशिशों को तब विपक्ष में बैठी बीजेपी ने बाधित किया जिससे देश को 12 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।


नई दिल्ली : देश के सबसे बड़े आर्थिक बदलाव जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) विधेयक पर लोकसभा में चर्चा हो रही है। कांग्रेस के अनुसार मसौदे के साथ जीएसटी गेमचेंजर नहीं साबित हो सकता है। जीएसटी पर विपक्ष की ओर से बहस की शुरुआत करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने कहा, 'जीएसटी कानून पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा उठाया गया गेमचेंजर कानून था। कांग्रेस ने जीएसटी लागू करने की कोशिशों को तब विपक्ष में बैठी बीजेपी ने बाधित किया जिससे देश को 12 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

'मोइली ने पूछा, 'अब जब जीएसटी को 6 साल बाद लागू किया जा रहा है, तो इस दौरान हुए नुकसान की जिम्मेदारी किसकी है?' मोइली ने आगे कहा, 'जीएसटी नहीं लागू होने की वजह से सालाना 1 से 1.5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। इस तरह अब तक देश को करीब 10 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है।'मोइली ने कहा कि जीएसटी कानून केन्द्रीय कानून की सबसे बड़ी चोरी का मामला है। कांग्रेस सरकारों ने अपने कार्यकाल के दौरान पूरी कोशिश की कि इसे लागू करके देश की जीडीपी को गति दी जाए लेकिन प्रमुख विपक्षी दल ने इसके रास्ते में रोड़े अटकाए।

उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जीएसटी का मौजूदा विधेयक जिसे पास कराने की कोशिश की जा रही है इसमें कई ऐसे कानून हैं जिससे जीएसटी लागू करने का मकसद विफल हो सकता है। मोइली ने कहा कि जीएसटी की प्रस्तावित दरों से देश में ईज ऑफ डूईंग बिजनेस को नुकसान पहुंचने की संभावना है। मोइली के मुताबिक जीएसटी का मतलब पूरे देश में एक समान टैक्स दर लागू करना था लेकिन सरकार का प्रस्ताव कई स्तर पर टैक्स थोपने की है। 

कांग्रेस ने कहा कि देश में जिन गुड्स और लक्जरी गुड्स पर 28 फीसदी से 60 फीसदी तक टैक्स लगाने की योजना पर पुनर्विचार करने की जरूरत है।मोइली ने सदन में कहा कि इस मसौदे के साथ जीएसटी गेमचेंजर नहीं साबित हो सकता है। मौजूदा प्रस्ताव में महंगाई पर लगाम लगाने के कोई प्रावधान नहीं किए गए हैं। लिहाजा, कांग्रेस नेता के मुताबिक इसे मौजूदा हालत में लागू करने से देश के कारोबारी जगत में सिर्फ अफरातफरी का माहौल पैदा होगा।लोकसभा में जीएसटी पर चर्चा से पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और सांसदों के साथ इस पर एक रणनीतिक बैठक भी की थी।


अधिक देश की खबरें