दिल्ली सहित 9 राज्यों में उपचुनाव के लिए वोटिंग शुरू
इस उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.


नई दिल्ली : देश में नौ राज्यों की एक लोकसभा तथा 10 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए वोटिंग शुरू हो गई है. चुनाव आयोग की यहां जारी सूचना के अनुसार विभिन्न कारणों से रिक्त हुई इन सीटों के लिए नौ अप्रैल को मतदान होगा तथा चुनाव परिणाम 13 अप्रैल को घोषित किए जाएंगे. आयोग के अनुसार जम्मू कश्मीर की श्रीनगर लोकसभा सीट के लिए भी रविवार को उपचुनाव होगा.

इसके अलावा जिन राज्यों में विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव होना है, उनमें असम की धेमाजी सुरक्षित, हिमाचल प्रदेश की धोरंज सु, मध्य प्रदेश की अटेर तथा बांधवगढ़ सु, पश्चिम बंगाल की कांठी दक्षिण, दिल्ली की राजौरी गार्डन, राजस्थान की धौलपुर, कर्नाटक की नंजनगुड तथा गुंडुलूपेट और झारखंड की लिटीपारा सु सीट शामिल है.

दिल्ली के राजौरी गार्डन विधानसभा सीट पर पर फिलहाल पोलिंग बूथ पर वही वोटर दिख रहे हैं जो मॉर्निंग वॉक पर निकले थे. लोग राष्ट्रीय राजधानी में इसी महीने होने वाले निकाय चुनाव से ठीक पहले हो रहे इस उप चुनाव को सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की लोकप्रियता, कांग्रेस की वापसी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सम्मान की पूर्व परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है.

इस सीट से जीते आप विधायक जरनैल सिंह के हाल ही में पंजाब विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के लंबी विधानसभा सीट से लड़ने के लिए पद से इस्तीफा देने के चलते यह सीट रिक्त हुई है. आप ने उप चुनाव में हरजीत सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है. मनिंदर सिंह सिरसा भाजपा और शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) के संयुक्त प्रत्याशी होंगे, जबकि कांग्रेस ने मीनाक्षी चंदेला को खड़ा किया है.

इस उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. हाल ही में यहां पंजाब सरकार के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने रोड-शो करके कांग्रेस के उम्मीदवार का प्रचार किया था. हालांकि यह केवल एक उप चुनाव है लेकिन कांग्रेस को लगता है कि अगर उसने यह एक विधानसभा सीट जीत ली तो इससे दिल्ली में अपनी वापसी का संदेश दे सकेगी. यही कारण है कि पार्टी इस सीट पर पूरी ताकत लगा चूकी है.

बता दें, राजौरी गार्डन सिख-पंजाबी बहुल सीट है, जहां रविवार को वोट डाले जाएंगे. चुनाव के नतीजे 13 अप्रैल को आएंगे. इसका सीधा मनोवैज्ञानिक असर 23 अप्रैल को होने वाले नगर निगम चुनाव पर पड़ सकता है.



अधिक देश की खबरें