पाकिस्तान ने 'दक्षेस उपग्रह' परियोजना से अलग करने के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार
बांग्लादेश ने कहा कि भारत के इस कदम से विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ेगा।


इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने 'दक्षेस उपग्रह' परियोजना से खुद को अलग किए जाने के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है। पाक ने कहा कि भारत सहयोगी आधार पर उपक्रम विकसित करने का इच्छुक नहीं है। दूसरी तरफ सार्क के बाकी छह देश भारत के इस आसमानी तोहफे से गद्गद हैं। बांग्लादेश ने कहा कि भारत के इस कदम से विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ेगा।

पाकिस्तान ने यह दावा उस वक्त किया है जब भारत ने पड़ोसी देशों के संचार एवं आपदा संबंधी सहयोग देने के मकसद से 'दक्षिण एशिया उपग्रह' का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया। 

पाकिस्तानी विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकरिया ने कहा, '18वें दक्षेस शिखर बैठक के दौरान भारत ने दक्षेस सदस्य देशों को तथाकथित 'दक्षेस उपग्रह' नामक उपग्रह का तोहफा देने की पेशकश की थी।

बहरहाल, भारत ने यह स्पष्ट कर दिया था कि वह इसको खुद बनाएगा, लॉन्च करेगा और संचालन भी करेगा।' उधर, बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि दक्षिण एशिया उपग्रह के प्रक्षेपण के बाद बांग्लादेश और भारत के जल, थल और वायु में सहयोग का विस्तार हुआ है।


हसीना ने कहा, 'मेरा यह मानना है कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र के लोगों की भलाई यहां के देशों के बीच सहयोग के कई क्षेत्रों में सार्थक संपर्क पर निर्भर करता है।'


अधिक विदेश की खबरें