अखिलेश को नहीं शिवपाल को अपनी गद्दी सौंपेंगे मुलायम सिंह यादव
अखिलेश को नहीं शिवपाल को अपनी गद्दी सौंपेंगे मुलायम सिंह यादव


लखनऊ: मुलायम सिंह यादव अब अखिलेश यादव से अलग हटकर सोच रहे हैं. अखिलेश यादव के निर्णय के उलट वो अपने फैसले करते रहे हैं. शायद यही वजह रही है कि राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी मुलायम सिंह और शिवपाल ने पार्टी के अन्य लोगों से अलग अपना समर्थन रामनाथ कोविंद को दिया. लेकिन अब यूपी की सियासत में नयी चाल के जरिये मुलायम सिंह अखिलेश को संकेत देने की कोशिश में हैं.मुलायम सिंह यादव आजमगढ़ संसदीय सीट से चुनाव जीते थे. सूत्रों के अनुसार, मुलायम सिंह यादव शिवपाल यादव को आजमगढ़ की बड़ी जिम्मेदारी सौंप सकते हैं. मुलायम सिंह यादव अब शिवपाल यादव को अपनी जगह बिठाना चाहते हैं। लेकिन राजनीति के विश्लेषकों का कुछ और ही मानना है। मुलायम सिंह यादव एक तीर से दो शिकार करने के मुड में हैं। शिवपाल यादव को आजमगढ़ सौंपने की सुरत में जशवंतनगर की सीट खाली हो जाएगी। जसवंतनगर से शिवपाल यादव के बेटे आदित्य को उतारने की जमीन तैयार कर रहे हैं। पार्टी में जिस प्रकार से मुलायम और शिवपाल के खिलाफ आवाजें उठी हैं, उसे देखते हुए शिवपाल के बेटे का राजनीतिक भविष्य सुरक्षित करने की कवायद है। मुलायम सिंह यादव ने हालाँकि इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की है। लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव के मैदान में उतरने की संभावना कम ही है।


अधिक राज्य की खबरें

कांग्रेस के दुष्प्रचार का पर्दाफाश है जस्टिस लोया केस में सुप्रीम कोर्ट का फैसला : महेंद्रनाथ पांडेय..

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि जस्टिस लोया केस में मा0 ... ...