उत्तर कोरिया पर हमले के लिए US सेना पूरी तरह तैयार : डॉनल्ड ट्रंप
उत्तर कोरिया से तनातनी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने प्योंगयांग को बड़ी धमकी दे दी है।


वॉशिंगटन : उत्तर कोरिया से तनातनी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने प्योंगयांग को बड़ी धमकी दे दी है। ट्रंप ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि वॉशिंगटन इस मसले का सैन्य हल निकालने की तैयारी पूरी कर ली है। उम्मीद है कि उत्तर कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन कुछ अन्य रास्ता तलाशेंगे। 

ट्रंप का यह ट्वीट पिछले कुछ हफ्तों से अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच जारी जुबानी जंग के बीच ही आया है। कुछ दिन पहले किए हुए एक अन्य ट्वीट में ट्रंप ने कहा था कि अगर प्योंगयांग अमेरिका को धमकी देना जारी रखेगा तो उत्तर कोरिया को ऐसा विनाशक हमले का सामना करना होगा जिसे दुनिया ने कभी देखा नहीं होगा। ट्रंप ने अपने नए ट्वीट में कहा, 'सैन्य समाधान का खाका तैयार है। उत्तर कोरिया को मूर्खतापूर्ण व्यवहार नहीं करना चाहिए। उम्मीद है कि किम अन्य रास्ता तलाशेंगे।' हालांकि ट्रंप ने यह साफ नहीं किया समाधान रक्षात्मक होगा या प्रतिक्रियात्मक। 

ट्रंप की यह तीखी प्रतिक्रिया उन खबरों के बाद आई है, जिनमें कहा जा रहा है कि उत्तर कोरिया ने एक ऐसा वॉरहेड विकसित किया है जो कि एक अंतर्महाद्वीपीय बलिस्टिक मिसाइल (ICBM) में भी फिट हो सकता है। मालूम हो कि वॉरहेड मिसाइल का मुखास्त्र होता है। इसे परमाणु हमलों के लिए डिजाइन किया जाता है। न्यू जर्सी के बेडमिनस्टर स्थित अपने घर पर आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप ने उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन को चेतावनी देते हुए कहा था, 'बेहतर होगा कि अमेरिका को और धमकी न दो।' ट्रंप ने कहा था, 'अगर उत्तर कोरिया अपनी ये हरकतें जारी रखता है, तो हम इस जोश के साथ जवाब देंगे कि दुनिया में इससे पहले इतनी ताकत किसी ने देखी नहीं होगी।'

हालांकि ट्रंप के ताजा ट्वीट के बाद उनकी आलोचना भी शुरू हो गई है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रशासन में विदेश नीति मामलों के सलाहकार रहे एक विशेषज्ञ ने कहा, 'यह कोई विडियो गेम नहीं है। उत्तर कोरिया से युद्ध में लाखों लोगों की जिंदगी दांव पर लगी होगी।'

वॉशिंगटन पोस्ट की एक खबर के मुताबिक, अमेरिकी रक्षा विभाग की खुफिया एजेंसी का कहना है कि उत्तर कोरिया के पास करीब 60 परमाणु हथियार हैं। इनमें से कुछ आकार में इतने छोटे हैं कि लंबी दूरी की मिसाइलों में भी फिट हो सकते हैं। इससे पहले उत्तर कोरिया के जानकार स्वतंत्र विशेषज्ञों ने जो अनुमान लगाया था, उनके मुकाबले यह दोगुनी संख्या है। जापान के रक्षा मंत्री ने भी कहा, 'यह संभव है कि उत्तर कोरिया के पास छोटे आकार में परमाणु हथियार विकसित करने की तकनीक हो और उसने ऐसे वॉरहेड्स विकसित भी कर लिए हैं।' उत्तर कोरिया ने पिछले महीने 2 ICBM का परीक्षण किया। उसका दावा है कि ये दोनों अमेरिका के मुख्य भूभाग को निशाना बनाने की क्षमता रखते हैं। 


अधिक विदेश की खबरें

WTO : अमेरिका को भारत की खरी खरी, हर हाल में निकालना होगा खाद्य सुरक्षा पर स्थायी समाधान..

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) की अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रही मंत्री स्तरीय वार्ता टूटने ... ...