बॉस्केटबॉल खिलाड़ी ने उड़ाया भारत का मजाक
भारत के बारे में उनके अनुभव शायद अच्छे नहीं रहे और उन्होंने कहा कि ज्ञान और प्रगति के मामले में भारत 20 साल पीछे हैं।


नई दिल्ली : अमेरिका के मशहूर बास्केटबॉल खिलाड़ी केविन डुरैंट बास्केटबॉल के प्रमोशन के लिए भारत आए। भारत के बारे में उनके अनुभव शायद अच्छे नहीं रहे और उन्होंने कहा कि ज्ञान और प्रगति के मामले में भारत 20 साल पीछे हैं। इस यात्रा में उन्होंने ताजमहल भी देखा। उन्होंने कहा कि ताजमहल को लेकर उनके जो अनुभव थे वह उनकी सोच से बहुत अलग रहे। 

नैशनल बास्केटबॉल असोसिएशन (NBA) के स्टार खिलाड़ी डुरैंट ने कहा, 'मेरी भारत यात्रा काफी विचित्र रही। मुझे उम्मीद भी नहीं थी कि यह मुल्क इस तरह का होगा। यहां सड़कों पर गाय दिखती हैं, गलियों में बंदर दिख जाते हैं। लोग सड़क किनारे चलते हैं फिर भी ट्रफिक नियमों का उल्लंघन नहीं होता।'

हालांकि, शुक्रवार को ही उन्होंने भारत के बारे में अपने बयानों को लेकर सफाई दी। उन्होंने कहा, 'उनके शब्दों को गलत तरीके से समझा गया। मैं सिर्फ अपनी सोच और वास्तविकता में क्या फर्क था यह बताना चाहता था। मैंने भारत में काफी अच्छा समय बिताया। मुझे इस बात से थोड़ी नाराजगी है कि मैंने जो कहा उसे संदर्भ से काटकर पेश किया गया।'



The Athletic खेल वेबसाइट को दिए अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा, 'सैंकड़ों लोग सड़क किनारे रहते हैं। मैंने देखा कि आसपास कितनी गरीबी है और सुविधाओं के अभाव के बाद भी वो लोग बॉस्केटबॉल खेलना चाहते हैं।'

उन्होंने अपनी ताज महल की यात्रा के बारे में कहा, 'जब मैं ताजमहल देखने के लिए निकला तो मैंने सोचा था कि वह एक धार्मिक जगह होगी। मेरा मानना था कि धार्मिक जगह होने के कारण यहां काफी सुरक्षा होगी और आस-पास बहुत सफाई मिलेगी। ताज हमल के रास्ते में मुझे रास्तों सड़कों के बीच गड्ढे मिले। कुछ घर अधूरे बने हुए हैं जिसमें लोग रह भी रहे हैं। हम कीचड़ और गड्ढे वाली सड़कों से चलते हैं और सामने आ जाता है ताजमहल।'

इस दिग्गज खिलाड़ी ने कहा, 'ताज 500 साल पहले जिसे बनाया गया। विश्व के 7 आश्चर्यों में से एक। ताजमहल को देखना मेरे लिए आंखें खोलने वाला अनुभव रहा।' बता दें कि भारत दौरे के दौरान इस 28 साल के खिलाड़ी ने एक गिनेस वर्ल्ड रेकॉर्ड भी बनाया। उन्होंने सबसे बड़ा ट्रेनिंग सेशन को पूरा किया जिसमें 3, 459 बच्चों ने उनसे बॉस्केटबॉल खेलने की ट्रेनिंग ली। 


अधिक खेल की खबरें