B'day Special: क्रिकेटर नहीं डांसर बनना चाहती थी मिताली राज
मिताली राज


नई दिल्ली:  महिला वनडे वर्ल्ड कप में भारत की कप्तान मिताली राज का आज यानि कि 3 दिंसबर का जन्मदिन है। जिस तरह क्रिकेट के मैदान पर यह काफी गंभीर दिखाई देती हैं, उसी तरह अपनी हॉट अंदाज में भी सुर्खियों में रहती है। इन्होंने क्रिकेट करियर में बेहद नाम कमाया है और अब वर्ल्ड कप में भी अपनी बल्लेबाजी से धूम मचा रही है। इनके क्रिकेट से जुड़े हुए की रिकार्डस के बारे में तो आप जानते होंगे, लेकिन क्या आपको बता है मिताली क्रिकेटर नहीं बल्कि क्लासिकल डांसर बनना चाहती थी।  इसका जन्म  जोधपुर में 3 दिसंबर 1982 को मिताली का जन्म हुआ। पिता दुराई राज एयर फोर्स में ऑफिसर थे तो मां लीला राज भी क्रिकेट खेल चुकी थीं। 

क्लासिकल  डांसर बनना चाहती थी मिताली राज
एक इंटरव्यू के दौरान मिताली ने खुलासा किया था कि वह क्लासिकल  डांसर बनना चाहती थी। उन्होंने बताया कि तमिल परिवार में जन्म लेने के कारण बचपन में ही क्लासिकल डांस सीखना शुरू कर दिया। 10 साल की उम्र तक मिताली भरतनाट्यम में पारंगत हो गईं थीं। वे इसी में कॅरियर बनाने के बारे में सोचने लगीं थीं। लेकिन किस्मत को ऐसा मंजूर नहीं था, क्यों कि वह बचपन से ही आलसी थी और उनके पिता उन्हें अनुशासन में रहना सिखाना चाहते थे। 

17 साल की उम्र में भारतीय टीम में हो गई थी सेलेक्शन
पिता चाहते थे कि बेटी अनुशासन में रहे और एक्टिव बने। इसलिए उन्होंने उसे क्रिकेट खेलने को कहा। 10 साल की उम्र में मिताली क्लासिकल डांस छोड़ हाथ में बैट पकड़े मैदान में नजर आने लगीं थीं। इसके बाद उनकी स्कूलिंग हैदराबाद में हुई। स्कूल में लड़कों के साथ क्रिकेट की प्रैक्टिस करती। 17 साल की उम्र में मिताली का चयन भारतीय टीम में हो गया। 


अधिक खेल की खबरें