बाबरी विध्वंस के आज 25 साल पूरे, प्रदेश भर में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद
बाबरी विध्वंस के आज 25 साल पूरे


अयोध्या: बाबरी मस्जिद विध्वंस के बुधवार (6 दिसम्बर) यानी आज 25 साल पूरे हो चुके हैं। इससे पहले ही केंद्र ने सभी राज्यों को सतर्क रहने और शांति सुनिश्चित करने को कहा था। जिससे देश में कहीं भी कोई सांप्रदायिक घटना ना हो। दूसरी तरफ, विध्वंस के 25 साल पूरे होने से ठीक एक दिन पहले मंगलवार(5 दिसम्बर) को सुप्रीम कोर्ट में रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद स्वामित्व विवाद पर सुनवाई हुई। इसके बाद मसले पर राजनीति भी गर्म हो गई है।

जानकारी के अनुसार बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी के मद्देनजर मथुरा में प्रदेश के 3 अतिसंवेदनशील धर्मस्थलों में से एक-श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर एवं जनपद के अत्यधिक भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी चैकसी बढ़ा दी गई है। जिले के आला अधिकारी लगातार सुरक्षा व्यवस्था के मामले में सतर्कता बनाए हुए हैं। गौरतलब है कि 25 वर्ष पूर्व इसी दिन अयोध्या में घटी इस घटना के बाद मुंबई सहित देश के कई शहरों में हिंसा भड़क उठी थी जिसके चलते बड़ी संख्या में जान-माल का नुकसान हुआ था। इसी वजह से उच्चतम न्यायालय ने प्रदेश सरकार को अयोध्या, मथुरा एवं वाराणसी के मंदिरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के आदेश दिए थे।

मथुरा सहित तीनों धर्मस्थलों व अंतर्राष्ट्रीय महत्व के आगरा स्थित ‘ताजमहल’ की सुरक्षा उच्च स्तरीय हाईपावर कमेटी की देखरेख में की जा रही है जिसकी कमान सीधे अपर पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा) स्तरीय अधिकारी संभाले हुए हैं। ढाई दशक पूर्व घटी इस घटना के बाद से ही हिन्दूवादी संगठन जहां 6 दिसम्बर को ‘विजय दिवस’ के रूप में मनाते हैं, तो वहीं स्वयं को धर्मनिरपेक्ष संगठन मानने वाले अन्य संगठन इस दिन को ‘काला दिवस’ बताते हैं।

जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई ने बताया कि मथुरा सहित वृन्दावन, गोवर्धन, बरसाना आदि सभी प्रसिद्ध मंदिरों, तेलशोधक कारखाने आदि महत्वपूर्ण स्थलों, बस स्टॉप, रेलवे स्टेशनों आदि सार्वजनिक स्थलों तथा होटल, आश्रम, गेस्ट हाउस व धर्मशालाओं आदि में सघन निगहबानी की जा रही है।


अधिक राज्य की खबरें

यूपी विधानसभा – शीतकालीन सत्र : हंगामे की भेंट चढ़ा दूसरा दिन, बोले CM योगी – 47 सदस्यों के लिए बंधक नहीं बनाया जा सकता ‘सदन’..

यूपी विधानसभा के शीतकालीन सत्र का दूसरा दिन भी आज हंगामे के भेट चढ़ गया. अज सुबह ......