सपा में व्यापारियों की कोई पूछ नहीं, अखिलेश के पास नहीं है हमारे नेताओं से मिलने का समय : आनंद अग्रवाल
P C Of Anand Agrwaal


लखनऊ,  सपा के पूर्व नेता व मंत्री रहे नरेश अग्रवाल के कल बीजेपी ज्वाइन करने के बाद आज समाजवादी व्यापार सभा की प्रदेश कार्यकारणी ने समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. 

सपा पर वैश्यों और व्यापारी वर्ग के अनदेखी का आरोप लगते हुए अब तक समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष रहे आनंद अग्रवाल ने कहा कि सपा में हमारे समाज की कोई पूछ नहीं. समजवादी पार्टी काफी समय से लगातार हमारे समाज की उपेक्षा कर रही जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण है हमारे नेता नरेश अग्रवाल का राज्य सभा का टिकट काट कर फिल्मो में काम करने वाली एक अभिनेत्री को टिकट देना. 

आनंद अग्रवाल ने कहा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के पास हमारे समाज के लोगो से मुलाक़ात का समय नहीं. हमारे समाज के कई वरिष्ठ लोगों ने बाहर से आकर यहाँ तीन दिन तक राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुलाक़ात प्रयास किया पर अखिलेश ने मुलाक़ात का समय नहीं दिया. जो स्पष्ट करता है कि सपा को अब हमारे समाज के वोटों की जरुरत नहीं है. इसलिए हमारे नेता नरेश अग्रवाल के कदम से कदम को मिलाते हुए पूरी कार्यकारणी ने समाजवादी पार्टी व्यापार सभा से इस्तीफा दे दिया है. हम लोग जल्द ही भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण करेंगे. 

अग्रवाल ने सपा-बसपा के गठबंधन पर टिपण्णी करते हुए कहा कि अखिलेश ने बिना हमारे समाज की राय लिए बहुजन समाज पार्टी से सिद्धान्तहीन समझौता कर लिए जो हमें स्वीकार्य नहीं था.   

उन्होंने कहा कि आज के दौर अगर सच में कोई पार्टी वैश्यों और व्यापारी वर्ग की हितैषी है तो वो है भारतीय जनता पार्टी. भाजपा ने सदैव व्यापारियों और वैश्यों का ध्यान रखा है. अग्रवाल ने कहा कि हमारे पास पूरे प्रदेश में 500 सदस्यों की कार्यकारणी है. सभी ने इस्तीफा दे दिया है. इतना ही नहीं हमारे साथ तकरीबन 5000 से ज्यादा व्यापारी जुड़े है जो हमारे नेता के दिशा निर्देशन में काम कर रहे है. हमारे नेता ने कल ही भाजपा ज्वाइन कर ली है और हम लोगो भी जल्द बीजेपी ज्वाइन करेंगे.

अग्रवाल ने कहा कि सपा को अभी ताकत का अहसास नहीं है पर जल्दी ही देशभर में होने लोकसभा चुनाव व आगामी विधानसभा चुनाव में सपा को हमारी ताकत का अहसास हो जायेगा.      


अधिक राज्य की खबरें