उन्नाव रेप केस : अब उन्नाव जेल अधिकारी भी CBI के निशाने पर
आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और सह आरोपी शशि सिंह की गिरफ्तारी के बाद अब सीबीआई के निशाने पर उन्नाव जिला जेल के अधिकारी हैं.


लखनऊ : उन्नाव सामूहिक बलात्कार के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और सह आरोपी शशि सिंह की गिरफ्तारी के बाद अब सीबीआई के निशाने पर उन्नाव जिला जेल के अधिकारी हैं. अधिकारियों के साथ सीबीआई विधायक के उस रिश्तेदार से भी पूछताछ की तैयारी कर रही है, जिसके पास जेल में अनाज आपूर्ति करने का ठेका है. सीबीआई को जानकारी मिली है कि पीड़ित किशोरी के पिता की नौ अप्रैल को उन्नाव जिला अस्पताल में मौत से पहले जेल में विधायक के गुर्गों ने बुरी तरह पिटाई की थी. 

इस कार्रवाई में सिपाही से लेकर पुलिस अधीक्षक तक ने विधायक के गुर्गों की मदद की. पूछताछ के दौरान सीबीआई ने विधायक के दोनों मोबाइल फोन की कॉल डिटेल चेक की. मोबाइल की डिटेल से पुष्टि हो रही है कि तीन अप्रैल से लेकर उन्हें हिरासत में लिए जाने तक उन्नाव के एसपी से लेकर माखी थाने के सिपाही तक से कई बार विधायक ने बात की थी. यही नहीं रिसीविंग में कई ऐसे नंबर भी थे, जो पुलिस अफसरों के थे.

हालांकि सीबीआई टीम को विधायक यही तर्क देते रहे कि वह जनप्रतिनिधि हैं. इसलिए थाने से लेकर एसपी तक को उन्हें फोन करने पड़ते हैं. तीन अप्रैल से ऐसी कॉल की संख्या बढ़ने के सवाल पर विधायक ने कहा कि जब वह दूसरे के मामले में पैरवी करते हैं तो अपने मामले भी कर सकते हैं.

9 अप्रैल की सुबह हो गई थी पीड़िता के पिता की मौत    
उल्लेखनीय है कि भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके सहयोगियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला के पिता की सोमवार (9 अप्रैल) को कथित तौर पर पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी. उसे बीते रविवार (8 अप्रैल) को गिरफ्तार किया गया था. इस बारे में डॉक्टर का कहना था कि व्यक्ति की मौत आज (9 अप्रैल) सुबह हुई. उन्नाव के जिला अस्पताल के डॉक्टर अतुल ने बताया था, 'पेट दर्द और उल्टी की शिकायत के बाद व्यक्ति को देर रात अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सुबह उसकी मौत हो गई. व्यक्ति को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया था.'

पीड़िता ने भाजपा विधायक सेंगर पर रेप का आरोप लगाया है
पुलिस सूत्रों ने सोमवार (9 अप्रैल) को बताया कि भाजपा विधायक सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली माखी थाना क्षेत्र निवासी एक लड़की के पिता को बीते 8 अप्रैल की रात को जेल में पेट दर्द के साथ खून की उल्टियां शुरू हुई थीं. इस पर उसे तुरंत जिला अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया. मगर तड़के लगभग तीन बजे उसकी मौत हो गयी. उसकी उम्र करीब 50 वर्ष थी.

माखी थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 18 वर्षीय एक युवती ने उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर और उनके भाइयों पर पिछले साल सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया था. अदालत के आदेश पर इस मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया था. आरोप है कि मुकदमा वापस नहीं लेने पर गत तीन अप्रैल को विधायक के भाई अतुल सिंह ने पीड़िता के पिता को मारापीटा था. गम्भीर रूप से घायल होने के बाद पीड़ित माखी थाने में तहरीर देने गया तो पुलिस ने पांच अप्रैल को उसी के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करके उसे जेल भेज दिया.

अधिक राज्य की खबरें