दीपोत्सव: सीएम योगी आदित्यनाथ का ऐलान, फैजाबाद जिले का नाम होगा अयोध्या
सीएम योगी ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की है।


अयोध्या : देशभर में राम मंदिर के मुद्दे पर छिड़ी बहस के बीच उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान बड़ा ऐलान किया। सीएम योगी ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की है। छोटी दिवाली पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान योगी ने अयोध्या को कई सौगातें दी हैं। सीएम ने अयोध्या में मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ और एयरपोर्ट का नाम हिंदुओं के आराध्य राम के नाम पर करने की घोषणा की। 

सीएम के संबोधन के बीच 'योगीजी बस एक काम करो, मंदिर का निर्माण करो' जैसे नारे लग रहे थे। इसी दौरान सीएम योगी ने फैजाबाद का नाम बदलने का ऐलान करते हुए कहा, 'आज से अयोध्या के नाम से यह जनपद जाना जाएगा। यह (अयोध्या) हमारे आन, बान और शान की प्रतीक है। मुझे लगता है कि अयोध्या की पहचान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम से है। अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम को दुनिया ने स्मरण किया है। अभी तो यह उदाहरण है। आज कोरिया गणराज्य आपके उत्सव में शामिल हुआ है।

अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम के उद्घाटन के मौके पर सीएम योगी ने कहा कि वह एक नए संकल्प के साथ अयोध्या आए हैं। उन्होंने कहा, 'आज देश जान रहा है कि अयोध्या क्या चाहता है। हम आपको आश्वस्त करने आए हैं कि दुनिया की कोई ताकत अयोध्या के साथ अन्याय नहीं कर सकती। मुझसे पहले कोई मुख्यमंत्री यहां नहीं आया। मैं डेढ़ साल में 6-6 बार यहां आया हूं। हम अयोध्या का विकास चाहते हैं। हम चाहते हैं कि अयोध्या की पहचान अयोध्या की तरह ही रहे।' 

अयोध्या में एयरपोर्ट भी राम के नाम पर 
इस दौरान सीएम योगी ने भगवान श्रीराम के नाम पर अयोध्या में एयरपोर्ट का ऐलान किया। साथ ही राम के पिता दशरथ के नाम पर मेडिकल कॉलेज के निर्माण का ऐलान किया। सीएम योगी ने कहा, 'अयोध्या में एक नया मेडिकल कॉलेज बन रहा है। इस मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ के नाम पर होगा। यहां पर एयरपोर्ट का भी निर्माण पर हो रहा है। एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के नाम पर रखेंगे।' 

योगी ने कहा कि अयोध्या और देश की भावनाओं के साथ हम सब जुड़ना चाहते हैं, इसीलिए ऐसे कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्होंने दावा किया कि आगे भी ऐसे कार्यक्रम के आयोजन होते रहेंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि हरिद्वार की तर्ज पर अयोध्या में भी सरयू के किनारों को विकसित किया जाएगा। 

पीएम मोदी की योगी ने की तारीफ 
कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला किम-जुंग सुक के साथ उनके प्रतिनिधि दल का स्वागत करते हुए योगी ने कहा कि ये लोग भी यहां अपने अतीत से जुड़ने आए हैं। इनके आगमन से दीपोत्सव के इस कार्यक्रम को अंतरराष्ट्रीय मान्यता भी मिल रही है। पीएम मोदी की तारीफ करते हुए योगी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के कारण देश आज नई ऊंचाइयों पर पहुंच रहा है। रामराज्य की संकल्पना के साथ वर्तमान केंद्र सरकार की उपलब्धियों को जोड़ते हुए योगी ने कहा कि आज भारत पीएम मोदी के नेतृत्व में उसी दिशा में आगे बढ़ रहा है, जो सोच भगवान प्रभु राम ने की थी। 

'भारत ने सबको गले लगाया' 
उन्होंने कहा, 'प्रभु श्रीराम ने लंका पर विजय प्राप्त करने के बावजूद रावण के भाई को सत्ता सौंपी। यह हमारी सांस्कृतिक पहचान है। भारत ने सबको अपने गले से लगाया। यही वजह है कि जो भी यहां आया वह भारत का होकर रह गया।' इससे पहले गवर्नर राम नाईक और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला के साथ श्रीराम, सीता और लक्ष्मण के प्रतीकों की अगवानी की। इस दौरान डेप्युटी सीएम दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद रहे। 

योगी के संबोधन की खास बातें 
1. कोरिया की प्रथम महिला और सभी अतिथियों का हृदय से स्वागत करता हूं। अतिथि देवो भव। अतिथि के प्रति देवतुल्य भाव भारतीय संस्कृति की विशेषता रही है। मैं आभार व्यक्त करता हूं कोरिया गणराज्य के माननीय राष्ट्रपति का कि उन्होंने हमारे निमंत्रण को स्वीकार किया। इस प्रतिनिधिमंडल का आभार व्यक्त करता हूं। दीपोत्सव के जरिए हम अपने अतीत के साथ जुड़ रहे हैं। हमें भूलना नहीं चाहिए कि अतीत से भटका हुआ व्यक्ति त्रिशंकु की तरह होता है। अयोध्या की पहचान अयोध्या के रूप में रहे कोरिया इस बात का गवाह है। मैं इस प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करता हूं। 

2. आज से अयोध्या के नाम से यह जनपद जाना जाएगा। यह हमारे आन, बान और शान की प्रतीक है। मुझे लगता है कि अयोध्या की पहचान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम से है। अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम को दुनिया ने स्मरण किया है। अभी तो यह उदाहरण है। आज कोरिया गणराज्य आपके उत्सव में शामिल हुआ है। आदरणीय प्रधानमंत्रीजी ने जनकपुर और अयोध्या के बीच बस सेवा प्रारंभ की। मैं भी जनकपुर जा रहा हूं इस बार। सिर्फ नारों से सीमित न रखें। श्रीराम के अयोध्या आगमन की स्मृति में हम दीपोत्सव का कार्यक्रम मनाते हैं। 

3. रामराज्य की जो नींव भगवान राम ने रखी थी आपको लगता नहीं कि पीएम मोदी ने पिछले 4 साल के दौरान जो कार्य किया, 36 करोड़ गरीबों के अकाउंट खोले। 86 हजार करोड़ गरीबों के खाते में हैं। 8 करोड़ परिवारों को निशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, 4 करोड़ को फ्री बिजली कनेक्शन, 8 करोड़ को आवास उपलब्ध कराना। 10 करोड़ परिवारों यानी 50 करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना में लाना यह रामराज्य की अवधारणा है। भगवान श्रीराम की उस परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए ये सारे कार्यक्रम चल रहे हैं। 

4. न जाति, न मजहब, न भाषा का भेद है। भावनाएं होनी चाहिए भगवान को प्राप्त करने के लिए। कोरिया गणराज्य ने यह साबित किया है। पूरा भारत जान रहा है अयोध्या क्या चाहता है। आपको आश्वस्त करने आए हैं अयोध्या के साथ कोई अन्याय नहीं कर सकता, दुनिया की कोई ताकत नहीं कर सकती। पहले कोई सीएम क्या अयोध्या आता था। विगत डेढ़ वर्षों में मैं 6-6 बार अयोध्या आया हूं। 

5. नंगे तारों को अंडरग्राउंड करके, सड़कों को चौड़ा करके और घाटों को बनवाकर अयोध्या का विकास किया जा रहा है। अयोध्या को विकसित करने जा रहे हैं कितना बड़ा सौभाग्य है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जबरन किसी के राज्य को अधिग्रहीत नहीं किए। रावण को पराजित किया लेकिन उनके भाई विभीषण को सत्ता सौंपी। बालि के भाई को राजपाट दिया। भारत ने सबको अपने गले से लगाया। यही वजह है कि जो भी आया वह भारत का होकर रह गया।अयोध्या के लोगों को गर्व होना चाहिए कि भगवान राम की धरती से नया संदेश दे रहे हैं। 

6. सरयू नदी में गंदे नाले गिरने बंद होने चाहिए। अयोध्या-फैजाबाद के जितने भी नाले पवित्र सरयूजी में गिरते थे, पीएम की पहल से नमामि गंगे योजना के तहत एक भी नाले का पानी सरयूजी में नहीं गिरेगा। आज उसका भी उद्घाटन होना है। दीपोत्सव कार्यक्रम के साथ हम इन कार्यक्रमों को आगे बढ़ाएंगे। इसके जरिए एक नई ऊंचाई देने का काम करेंगे। एक नई परंपरा को आगे बढ़ाने की शुरुआत करेंगे। 

7. हम लोग रामजी की पैड़ी को विकसित करने का कार्य कर रहे हैं। आज यहां लाइटिंग का कितना अच्छा नजारा है। अयोध्या को प्राचीन काल की तरह आने वाले समय में सात पवित्र पुरियों के नाम से जानेंगे और इसी रूप में आगे बढ़ाते रहेंगे। अयोध्या में नया मेडिकल कॉलेज बना रहे हैं। मैं चाहूंगा कि मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ के नाम पर हो। यहां पर एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के नाम पर रखेंगे। 

8. इस भव्य कार्यक्रम के साथ इन सभी आयोजनों को पूरी भव्यता के साथ आगे बढ़ाएंगे। अयोध्या में विकास के नए आयाम स्थापित कर सकें इसके लिए मैं आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं। अयोध्या की भावनाओं के साथ-साथ देश की भावनाओं को आपके साथ जोड़ना चाहते हैं। दीपोत्सव और दीपावली के कार्यक्रम पर आपको हृदय से बधाई देता हूं और उम्मीद करता हूं कि अयोध्या की धरती अपने शांति और सौहार्द के संदेश को इसी तरह प्रवाहित करेगी। 

अधिक राज्य की खबरें