शाहजहांपुर में सात साल के मासूम की हत्या, प्रधानपति पर हत्या का आरोप
रौनक का चेहरा पूरी तरह गीली मिट्टी में धंसा हुए था।


शाहजहांपुर, (हि.स.)। कांट थाना क्षेत्र के गांव गंधार में सोमवार देर रात घर के बाहर बहनोई साथ सो रहा सात साल का मासूम अचानक लापता हो गया। मंगलवार की सुबह घर से चंद कदमों की दूरी पर खेत में  बच्चे का शव पड़ा मिलने से गांव में हड़कम्प मच गया। परिजनों ने प्रधान पति पर चुनावी रंजिश में हत्या करने का आरोप लगाया है। आरोपित प्रधान पति मृतक का रिश्ते में ताऊ लगता है। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच में जुटी गई है। 

थाना क्षेत्र के गांव गंधार निवासी रामचन्द्र खेती बाड़ी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता है। रामचन्द्र का बेटा रौनक (7 वर्ष) गांव के सरकारी स्कूल में कक्षा एक का छात्र था। सोमवार रात रामचन्द्र पत्नी रानी के साथ खेत की रखवाली करने चला गया। जबकि रौनक अपने बहनोई सतिंदर के साथ घर के बाहर चारपाई पर और भाई राजवीर व संजय छत पर सो रहे थे। देर रात लगभग दो बजे जब सतिंदर की आंख खुली तो देखा रौनक चरपाई पर नहीं था। सतिंदर ने रौनक के लापता होने की बात पत्नी नीरज व घरवालों को बताई। इसके बाद परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। 

मंगलवार तड़के लगभग चार बजे परिजनों को रौनक का शव घर से चंद कदमों की दूरी पर राजराम के गन्ने के खेत में पड़ा मिला। रौनक का चेहरा पूरी तरह गीली मिट्टी में धंसा हुए था। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने छानबीन की और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पिता रामचन्द्र ने बताया कि गांव के प्रधान पति भगवान सरन रिश्ते में उसके भाई लगते हैं और उनके घर के सामने ही भगवान सरन का मकान है। पिता ने बताया की प्रधानी के चुनाव में दूसरे पक्ष की मदद करने की वजह से भगवान सरन उनके परिवार से रंजिश रखने लगा था जिस कारण उसने कई बार परिवार को अंजाम भुगतने की धमकी भी दी थी। पिता का आरोप है की चुनावी रंजिश के कारण ही भगवान सरन ने अपने साथी सुमित व अमित के साथ मिलकर उसके बेटे को सोते समय अगवा कर लिया और उसकी हत्या कर दी। 

एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच की जायेगी।

अधिक राज्य की खबरें