लॉकडाउन के नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करें राज्य सरकारें : केंद्र
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकारी निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया है.


नई दिल्ली : कोरोना वायरस को लेकर कई राज्यों में लॉक डाउन किये जाने के बाद सोमवार को जनता द्वारा इसको गंभीरता से न लिए जाने पर केंद्र ने नाराजगी जताते हुए सख्त रवैया अपनाया है.


केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि लॉकडाउन का जनता द्वारा सख्ती से पालन करवायें. नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए देश के 22 राज्यों के 75 जिलों में लॉकडाउन है.


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकारी निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि, "लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें. राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं.''


जरूरी सेवाएं रहेंगी जारी
कोरोना वायरस के बढ़ते संकट को देख सभी राज्य सरकारें कोरोना प्रभावित 75 जिलों में केवल जरूरी सेवाएं ही जारी रखने की तैयार में हैं. 


मुख्य सचिवों ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा गुरुवार को दिए गए 'जनता कर्फ्यू' के आह्वान पर अच्छी और सहज प्रतिक्रिया मिली है. दुनिया भर में 13,049 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और घातक वायरस ने अब तक 3.7 लाख लोगों को प्रभावित किया है.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)


अधिक राज्य की खबरें