इंसानियत शर्मसार, कोरोना के मरीजों की चिता को अधजला छोड़ा,कुत्ते खा रहे लाश
image


वैसे तो सरकारे तमाम कोशिशें कर रही है जिससे आम जनता को कोरोना वायरस की इस लड़ाई में मदद मिले उनको परेशानी कम झेलनी पड़े लेकिन उन्हीं सरकार के बैठाए हुए कुछ अधिकारी या फिर यूं कह लें की ऊंचे पदों पर बैठे कुछ जिम्मेदार लोग इंसानियत को शर्मसार करते नजर आ रहे हैं।

बिहार के वैशाली जिले के दिग्घी में बालिका छात्रावास में बने क्वरंटाइन सेंटर में एक शख्स ने खुदखुशी कर ली जिसके बाद उसकी रिपोर्ट में कोरोना का संक्रमण निकला लेकिन इससे बाद प्रशासन का जो रवैया सामने आया वह हैरान कर देने वाला था, जिसकी उम्मीद भी नहीं लगाई जा सकती थी।


प्रशासन ने लाश को बिहार के कोनहारा घाट पर अंतिम संस्कार करने के लिए कन्हाई मालिक नाम के एक व्यक्ति को 1500 रुपए देकर उससे अपना पीछा छुड़ा लिया, जिस शख्स ने अंतिम संस्कार करने के लिए 1500 रुपया लिए थे वह भी लाश को आधा जली हालत में छोड़कर भाग निकला।

आज सुबह जब आस-पास के ग्रामीणों ने शव को कुत्तों द्वारा खाते देखा तो उन लोगों ने इसकी सूचना प्रशासन और मीडिया को दी. इसके बाद आनन-फानन पुलिस की टीम वहां पहुंची


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस जिले में इस तरह की घटना पहले भी हो चुकी हैं पिछली बार एक चोर की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी जिसके शव को भी प्रशासन ने ऐसे ही पानी में फें0कवा दिया था।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)

अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें