नहीं मिले भीम आर्मी के ‘असल’ मददगार
भीम आर्मी के नाम से सोशल मीडिया पर चंदा वसूलने वाले नीटू गौतम का भी अब तक पुलिस कोई पता नहीं लगा सकी है।


लखनऊ : यूपी पुलिस अब तक भीम आर्मी के 'असल' मददगारों तक नहीं पहुंच सकी है। इंटेलीजेंस और पुलिस की रिपोर्ट के बावजूद अब तक सोशल मीडिया पर भड़काने वाली पोस्ट डालने वालों पर कोई ऐक्शन नहीं हुआ है। सहारनपुर में सोशल मीडिया के जरिए ही सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था। इसी वजह से प्रशासन ने सहारनपुर जिले में इंटरनेट सेवाओं को ही बंद कर दिया था।

इसके अलावा, भीम आर्मी के नाम से सोशल मीडिया पर चंदा वसूलने वाले नीटू गौतम का भी अब तक पुलिस कोई पता नहीं लगा सकी है। नीटू गौतम ने जो मोबाइल और अकाउंट नंबर सोशल मीडिया पर डाला था, वह दिल्ली के निखिल सबलानिया का निकला है। निखिल ने बताया कि वह यूपी के एडीजी (कानून-व्यवस्था) आदित्य मिश्रा को बता चुके हैं कि उनका भीम आर्मी से कोई लेना देना नहीं है। वह भीम आर्मी के सदस्य भी नहीं हैं। उनके एसबीआई के अकाउंट को क्यों भीम आर्मी से जोड़ा जा रहा है? यह भी उन्हें नहीं पता है।

हालांकि निखिल ने एनबीटी को बताया कि वह आंबेडकर साहित्य और उनसे जुड़ी सामग्री का प्रचार करते हैं। वह आंबेडकर विचारधारा को आगे बढ़ाने में जुटे हैं। उनका भीम आर्मी से कोई संबंध नहीं है। 

अधिक राज्य की खबरें