‘गो टॉपलेस डे’ पर महिलाओं ने उतारे टॉप
न्यूयॉर्क में टॉपलेस होने को वर्ष 1992 से वैध कर दिया गया है।


हैम्पटन (अमेरिका): लैंगिक समानता को प्रोत्साहित करने वाले और अपने वक्षस्थल को सार्वजनिक तौर पर निर्वस्त्र कर सकने के महिलाओं के अधिकारों की वकालत करने वाले ‘गो टॉपलेस डे’ के अवसर पर अमेरिका में महिलाएं अपने टॉप उतार रही हैं।



गो टॉपलेस डे वार्षिक तौर पर उस रविवार को मनाया जाता है, जो वूमन्स इक्वेलिटी डे के सबसे करीब होता है। वूमन्स इक्वेलिटी डे वह दिन है, जब अमेरिकी महिलाओं को मताधिकार मिला था। कल न्यूयॉर्क सिटी में परेड करते हुए कई दर्जन महिलाएं और कुछ पुरुष टॉपलेस होकर निकले। इस मार्च का नेतृत्व कुछ महिलाएं कर रही थीं, जिन्होंने हाथ में एक बैनर पकड़ा था। इनके पीछे अन्य टॉपलेस लोग थे। विश्व के अन्य शहरों के लिए भी न्यूयॉर्क सिटी जैसे इस आयोजन की योजना थी। न्यू हैंपशायर, डेनवार, लॉस एंजिलिस और अन्य शहरों में इस आयोजन की योजना था।

गो टॉपलेस की अध्यक्ष नैडिन ग्रे ने कहा कि वह उम्मीद करती हैं कि ये आयोजन महिलाओं के वक्षस्थल को लेकर व्याप्त हैरानी और विस्मय की भावना को दूर करेंगे। उन्होंने कहा, ‘न्यूयॉर्क सिटी में हम बिना कोई टिकट लिए या बिना जेल जाए स्वतंत्र तरीके से टॉपलेस हो सकने के अपने अधिकार का जश्न मना रहे हैं। अन्य स्थानों पर यह एक विरोध प्रदर्शन की तरह होगा क्योंकि भेदभाव अब भी हो रहा है।’ 



उन्होंने कहा, ‘21वीं सदी में महिलाओं द्वारा टॉपलेस हो सकने की वकालत करने का प्रयास उतना ही मजबूत है, जितना 20वीं सदी में महिलाओं द्वारा मताधिकार हासिल करने के लिए था। यह कामुक हो सकता है लेकिन कामुक होना कोई अवैध नहीं है। यह सउदी अरब नहीं है।’ न्यूयॉर्क में टॉपलेस होने को वर्ष 1992 से वैध कर दिया गया है। इस संदर्भ में वैधता अलग-अलग राज्यों के हिसाब से अलग-अलग है।


अधिक विदेश की खबरें